The ATI News
News Portal

शिवराज के खिलाफ बने फर्जी वीडियो पर कसा शिकंजा, दिग्विजय सहित 12 पर एफआईआर दर्ज

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

शिवराज के खिलाफ बने फर्जी वीडियो पर कसा शिकंजा, दिग्विजय सहित 12 पर एफआईआर दर्ज

 

Radha Singh | 15-06-2020

 

 

शिवराज - दिग्विजय
Photo Google

मध्यप्रदेश पुलिस ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के एक पुराने वीडियो के साथ कथित रूप से छेड़छाड़ कर उनकी छवि खराब करने के उद्देश्य से सोशल मीडिया पर वायरल करने के मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह सहित 12 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है।

 

बॉलीवुड पर भड़कीं कंगना रनौत, सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड पर बॉलीवुड के सच का किया खुलासा..

 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से संबंधित एक वीडियो यहां सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरु हो गया है। भाजपा ने मूल वीडियो को संपादित कर चौहान की छवि खराब करने के लिए सोशल मीडिया पर प्रसारित करने का आरोप लगाया है। इस मामले में भाजपा नेताओं ने पुलिस की अपराध शाखा पहुंचकर इसकी शिकायत की और दिग्विजय सिंह के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज कराते हुए दंडात्मक कार्रवाई करने की मांग की थी।

 

पीएम केयर्स फंड की होगी ऑडिटिंग,सरकार ने इस संस्था को दी जिम्मेदारी

 

भोपाल पुलिस की अपराध शाखा के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक निश्चल झारिया ने पीटीआई भाषा को बताया, ‘इस मामले में भोपाल के भाजपा विधायकों और वरिष्ठ भाजपा नेताओं की शिकायत पर दिग्विजय सिंह और अविनाश कड़वे सहित 12 लोगों के खिलाफ भादंवि की धारा 500 (मानहानि), धारा 501 (मानहानिकारक जानी हुई बात को मुद्रित या उत्कीर्ण करना), 505 (2) (सार्वजनिक तौर पर शरारत) और 465 (जालसाजी) के तहत मामला दर्ज कर विवेचना की जा रही है.’ इस संबंध में दिग्विजय सिंह ने मीडिया से कहा कि बुधनी क्षेत्र के आदिवासियों को मुख्यमंत्री के दलालों द्वारा ठगे जाने के संबंध में मैने आवाज उठायी और धरना देने की धमकी दी, इसी से तिलमिलाई भाजपा ने मेरे खिलाफ मामला दर्ज कराया है।

 

सुशांत सिंह राजपूत ने खुदकुशी नहीं की, उनकी हत्या हुई !

 

उन्होंने कहा मुझे इसमे कोई आपत्ति नहीं है लेकिन इसमें यह भी जांच होना चाहिये कि आखिर इसे किसने संपादित किया है और इसका स्रोत क्या है. वहीं प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस मामले में कहा, ‘प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पर दर्ज हुए प्रकरण की कड़ी निंदा करता हूं. भाजपा सरकार प्रदेश में निरंतर कांग्रेस के नेताओं पर दमनकारी कार्यवाही कर अपनी विद्वेष व दुर्भावना वाली सोच को प्रदर्शित कर रही है। ”

 

जौनपुर : फीस और परीक्षा को लेकर उचित फैसला ले विश्वविद्यालय वरना अपने हक के लिए हम तोडे़गें लॉकडाउन : छात्रनेता हर्षित सिंह

 

प्रदेश के पूर्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता के नेतृत्व में भाजपा नेताओं की तरफ से भोपाल अपराध शाखा को दिये गये शिकायत में कहा गया है कि चौहान ने 12 जनवरी 2020 को तत्कालीन मुख्यमंत्री कमलनाथ सरकार की आबकारी नीति के बारे में एक टिप्पणी की थी, लेकिन दिग्विजय सिंह ने चौहान की छवि धूमिल करने के लिए इस वीडियो में काट—छांटकर अपने ट्विटर अकाउंट में डाला है। हालांकि दिग्विजय ने बाद में इसे हटा लिया था।

 

 

देखिए आखिर कैसे दिखते थे मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ अपने जवानी के दिनों में

 

 

जब एक माँ ने अपने डेढ़ साल की बच्ची को फाँसी पर लटका दिया

Leave A Reply

Your email address will not be published.