The ATI News
News Portal

जानिए चीन बॉर्डर पर किसने किया जोरदार धमाका…

1

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

जानिए चीन बॉर्डर पर किसने किया जोरदार धमाका…

 

राधा सिंह। 17/07/2020

 

जानिए चीन बॉर्डर पर किसने किया जोरदार धमाका…
Photo Google

 

पूरी दुनिया में चीन की पहचान एक दगाबाज देश के तौर पर हो रही है। चीन की सेना लद्दाख से पीछे जरूर हट गई है, लेकिन भारतीय सेना ने अपनी मौजूदगी की धमक जारी रखी है। भारत को पता है कि चीन कभी भी धोखा दे सकता है। इसलिए भारत एलएसी पर पूरी सतर्कता बरते हुए है और चीन की हर गतिविधि पर नजर रखे हुए है। जब रक्षामंत्री राजनाथ सिंह लेह के स्टकना में पहुंचे तो उनके सामने पैरा कमांडोज ने जबरदस्त प्रदर्शन किया। जिस जगह सेना के बहादुर जवानों ने अपना शक्ति प्रदर्शन किया, वहां से चीन के जवानों की तैनाती करीब 2 किमी है।

 

 

 

 

जानिए चीन बॉर्डर पर किसने किया जोरदार धमाका…
Photo Google

 

पैंगॉन्ग झील के पास सर्जिकल स्ट्राइक करने वाले पैरा कमांडोज ने युद्धाभ्यास किया है। पैंगॉन्ग झील वही इलाका है, जहां सबसे पहले भारत और चीन के सैनिक आमने-सामने आए थे। आज भारत पैंगॉन्ग झील के पास अपनी ताकत का प्रदर्शन कर रहा है।पूर्वी लद्दाख में जब भारत और चीन के बीच विवाद शुरू हुआ था, तब आगरा और दूसरी जगहों से पैरा कमांडोज को लद्दाख भेजा गया था। युद्ध के हालात को देखते हुए पैरा कमांडोज की तैनाती की गई थी।

 

 

 

 

पैरा कमांडोज को ऊंची पहाड़ी वाले इलाके जैसे गलवान घाटी, पैंगॉन्ग लेक और दौलत बेग ओल्डी में युद्ध लड़ने के लिए तैनात किया गया था। हुए मिलिट्री ड्रिल में भारत की टैंक्स, हथियारबंद कमांडोज ने जबरदस्त प्रदर्शन किया।भारत और चीन के बीच तनाव कम करने की कोशिश जारी है और चीनी सेना कई इलाकों से पीछे भी हट रही है, लेकिन भारत हर मोर्चे पर तैयार है। दुश्मन के इलाके में ऑपरेशन को अंजाम देने के लिए पैरा कमांडोज की तैनाती की गई है।

 

 

आखिर कैसे हुई भगवान जगन्नाथ की सुप्रीम जीत

 

 

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के सामने सेना ने दिखाया कि कैसे पैरा कमांडोज किसी खतरनाक सैन्य ऑपरेशन को अंजाम दे सकते हैं।13,800 फीट की ऊंचाई से पैरा कमांडोज ऑपरेशन को अंजाम दिया। वायुसेना के कई हेलिकॉप्टर पैंगॉन्ग झील के पास मंडरा रहे हैं। इन्हीं पैरा कमांडोज ने सर्जिकल स्ट्राइक कर आतंकियों के छक्के छुड़ा दिए थे।थल सेना और वायु सेना के बीच बेहतर तालमेल के लिए भी यह ऑपरेशन काफी महत्वपूर्ण है। भारत, चीन को बता रहा है कि हम हर चालबाजी का जवाब देने के लिए तैयार हैं। इस दौरान रक्षामंत्री ने लाइट मशीन गन समेत कई हथियारों पर अपने हाथ आजमाए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.