The ATI News
News Portal

लखनऊ के पूर्व सांसद और एमपी के राज्यपाल लालजी टंडन का निधन,मेदांता में ली अंतिम सांस

1

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

लखनऊ के पूर्व सांसद और एमपी के राज्यपाल लालजी टंडन का निधन,मेदांता में ली अंतिम सांस

 

अंजलि पाण्डेय। 21/07/2020

 

पूर्व सांसद और एमपी के राज्यपाल लालजी टंडन
Photo Google

 

राज्यपाल लालजी टंडन 85 वर्ष का लखनऊ के मेदांता अस्पताल में मंगलवार को न‍िधन हो गया। लालजी टंडन कई द‍िनों से राजधानी के मेदांता अस्‍पताल में भर्ती थे। उन्होंने सुबह 5 बजे अंतिम सांस ली। उनके पुत्र नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन ने ट्वीट से जानकारी दी। सोमवार को उनकी हालत नाजुक होने के कारण उनको लेकर सोमवार को मेदांता अस्पताल की तरफ उनकी हालत नाजुक होने की बात बतायी गयी थीं, वहीं मेदांता अस्पताल में भर्ती मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन को वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था।

 

 

डॉक्टर ने उनकी तबीयत गंभीर होने की बात कही थी। देर रात 11 जून को मेदांता अस्पताल में भर्ती हुए लालजी टंडन की तबीयत 15 जून को अधिक बिगड़ जाने से पेट में ब्लीडिंग होने पर उनका ऑपरेशन भी किया गया,और इसके बाद से वह लगातार वेंटिलेटर पर ही उनको रखा गया था।उनका पार्थिव शरीर 9:30 बजे त्रिलोकनाथ रोड स्थित सरकारी बंगले पर जाएगा। यह बंगला उनके पुत्र मंत्री आशुतोष टंडन के नाम आवंटित है। 12:00 बजे उनका पार्थिव शरीर चौक स्थित आवास सोंधी टोला जाएगा। व वहीं तीन बजे उनका अंतिम संस्कार गोमती तट पर गुलाला घाट पर किया जाएगा।

 

 

प्रधानमंत्री ने दुख जताते हुए ट्वीट कर कहा कि,” श्री लालजी टंडन को समाज सेवा के उनके अथक प्रयासों के कभी भुला नही जायेगा,उन्हें याद किया जाएगा।उनका उत्तर प्रदेश में भाजपा को मजबूत करने में बहुत बड़ी भूमिका निभायी हैं।उन्होंने हमेशा ही एक लोक कल्याण को महत्व दिया हैं।वही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर कहा कि मध्यप्रदेश के माननीय राज्यपाल श्री लालजी टंडन जी के निधन से बेहद ही शोक में हूँ, उनके निधन से देश ने अच्छे जन नेता ,योग्य प्रशासन एवं समाज सेवी को खो दिया है।मैं प्रार्थना करता हूं,ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे।

 

 

आखिर कैसे हुई भगवान जगन्नाथ की सुप्रीम जीत

Leave A Reply

Your email address will not be published.