The ATI News
News Portal

मोदी सरकार ने सेना की महिला अफसरों को दिया बड़ा तोहफा…

4

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

मोदी सरकार ने सेना की महिला अफसरों को दिया बड़ा तोहफा…

Pc : Google

राधा सिंह |23/07/2020

मोदी सरकार ने भारतीय सेना में महिला अफसरों को बड़ा तोहफा दिया है। अब सेना की महिला अधिकारियों को स्थायी कमीशन की मंजूरी मिल गई है। केंद्रीय रक्षा मंत्रालय की ओर से आधिकारिक तौर पर इसकी सूचना दे दी गई है। अब सेना में विभिन्न शीर्ष पदों पर महिलाओं की तैनाती हो पाएगी।

इस आदेश के मुताबिक, शॉर्ट सर्विस कमिशन (SSC) की महिला अधिकारियों को भारतीय सेना के सभी दस हिस्सों में स्थायी कमीशन की इजाजत दे दी गई है।

यानी अब आर्मी एअर डिफेंस, सिग्नल, इंजीनियर, आर्मी एविएशन, इलेक्ट्रॉनिक्स, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, आर्मी सर्विस कॉर्प्स, आर्मी ऑर्डिनेंस कॉर्प्स और इंटेलिजेंस कॉर्प्स में भी स्थायी कमीशन मिल पाएगा। इसके साथ-साथ जज एंड एडवोकेट जनरल, आर्मी एजुकेशनल कॉर्प्स में भी ये सुविधा मिलेगी।

यह भी पढ़ें;

त्रेतायुग का सम्पूर्ण दर्शन कराएगा अयोध्या का श्री राम मंदिर, भव्य होगा 5 अगस्त को मंदिर का भूमि पूजन

 

इस आदेश के बाद अब जल्द ही परमानेंट कमीशन सेलेक्शन बोर्ड की ओर से महिला अफसरों की तैनाती हो सकेगी। इसके लिए सेना मुख्यालय ने कई अन्य एक्शन लिए गए हैं।

सेलेक्शन बोर्ड की ओर से सभी SSC महिलाओं की ओर से ऑप्शन और सभी कागजी कार्रवाई पूरी होने पर एक्शन शुरू किया जाएगा।

हालांकि, ये नियुक्ति कॉम्बेक्ट ऑपरेशन में नहीं होगी, सुप्रीम कोर्ट ने भी अपने फैसले में इसे अलग रखा था।

सेना की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि भारतीय सेना सभी महिला अधिकारियों को देश की सेवा करने का मौका देने के लिए पूरी तरह तैयार है। आपको बता दें कि इस स्थायी कमीशन को लेकर काफी वक्त से मांग की जा रही थी।

सुप्रीम कोर्ट में भी इस मामले की सुनवाई हुई थी। सुप्रीम कोर्ट ने इस कमीशन को बनाने के लिए सरकार को तीन महीने का वक्त दिया था। अदालत की ओर से फरवरी महीने में इस ऐतिहासिक फैसले को सुनाया गया था।

सुप्रीम कोर्ट ने टिप्पणी की थी कि सभी नागरिकों को अवसर की समानता, लैंगिक न्याय सेना में महिलाओं की भागीदारी का मार्गदर्शन करेगा।

 

 

अब 31 दिसंबर तक करना होगा “वर्क फ्रॉम होम”, सरकार ने जारी की नई गाईड लाइन

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.