The ATI News
News Portal

पाकिस्तान के मुंह पर सऊदी सरकार का जोरदार तमाचा , खुशी से झूम उठेंगे

2

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

पाकिस्तान के मुंह पर सऊदी सरकार का जोरदार तमाचा , खुशी से झूम उठेंगे

 

Divyanshu Singh | 12-08-2020

 

पाकिस्तान के मुंह
Photo Google

सौ से – जागरण
रियाद ।

सऊदी अरब ने पाकिस्तान को ऋण और तेल की आपूर्ति को समाप्त करने के साथ, दोनों देशों के बीच एक दशक से चली आ रही दोस्ती को आखिरकार समाप्त कर दिया है। मध्य पूर्व मॉनिटर की रिपोर्ट। नवंबर, 2018 में सऊदी अरब द्वारा घोषित 6.2 बिलियन डॉलर के पैकेज का एक हिस्सा अब सऊदी अरब को वापस चाहिए, जो वो पाकिस्तान से मामग रहा है। 1 अरब डॉलर का भुगतान करने के लिए पाकिस्तान से कहा गया है। 6.2 बिलियन डॉलर के पैकेज में कुल 3 बिलियन डॉलर का ऋण और एक ऑयल क्रेडिट सुविधा थी जिसमें 3.2 बिलियन डॉलर की राशि शामिल है।


 

दीपिका सिंह का ये लुक देखकर कंट्रोल नहीं कर पाए फैन्स , कह दी ये बड़ी बात

 

मिडिल ईस्ट मॉनिटर की रिपोर्ट के अनुसार, जब क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने पिछले साल फरवरी में पाकिस्तान की यात्रा की थी, तब इस सौदे पर हस्ताक्षर किए गए थे।

 

वहीं, अब यह ताजा रुख पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कश्मीर मुद्दे पर भारत के खिलाफ रुख नहीं अपनाने के लिए सऊदी अरब के नेतृत्व वाले संगठन इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) को सख्त चेतावनी देने के बाद आया है। एआरवाई चैनल पर कुरैशी को यह कहते हुए दिखा गया कि यदि आप इस मामले में आगे नहीं आते हैं तो मैं प्रधानमंत्री इमरान खान से उन इस्लामिक देशों की बैठक बुलाने के लिए मजबूर होऊंगा जो कश्मीर के मुद्दे पर हमारे साथ खड़े होने के लिए तैयार हैं।

 

 

योगी की पुलिस का चला चाबुक तो AMU की छात्राओं का धरा रह गया CAA-NRC धरने का प्लान

 

उन्होंने आगे कहा था कि मैं एक बार फिर सम्मानपूर्वक ओआईसी को बता रहा हूं कि विदेश मंत्रियों की परिषद की एक बैठक हम चाहते हैं। उन्होंने कहा कि जैसा कि पाकिस्तान ने सऊदी अरब के अनुरोध के बाद खुद को कुआलालंपुर शिखर सम्मेलन से अलग किया, वैसे ही अब रियाद को इस मुद्दे पर नेतृत्व दिखाना चाहिए। बता दें कि इस्लामाबाद, इस्लामिक सहयोग संगठन (OIC) के विदेश मंत्रियों की बैठक के लिए जोर दे रहा है क्योंकि भारत द्वारा पिछले साल ही आर्टिकल 370 को निरस्त कर दिया था, जिसने जम्मू-कश्मीर के तत्कालीन राज्य को विशेष दर्जा दिया था।
22 मई को कश्मीर में ओआईसी के सदस्यों से समर्थन जुटाने में पाकिस्तान विफल रहा, उसके बाद प्रधान मंत्री इमरान खान ने कहा था कि इसका कारण यह है कि हमारे पास कोई एक जुटता नहीं है और हमारे बीच सिर्फ विभाजन है।

 

 

विनोद को लेकर बेहद चौंकाने वाली बात होश उड़ जायेंगे ये जानकर#Binod

 

शहीद हुआ जौनपुर का लाल ” जिलाजीत यादव 

 

बंगलुरु में सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर भड़की हिंसा,2 की मौत ,110 गिरफ्तार

 

बलिया : लैला पहुंची मजनू के घर बैठ गई धरने पर ,फिर देखिए क्या हुआ

 

#Chhattisgarh की रहस्यमयी जगह जहाँ बहता है #उल्टा_पानी , जहाँ चढती है उल्टी गाडी़ #mainpat #tours

 

 

जानिए कहां छिपा  है अरबों  के खजाने का राज जहां मौजूद है 30 टन सोना

2 Comments
  1. […] पाकिस्तान के मुंह पर सऊदी सरकार का जोर… […]

Leave A Reply

Your email address will not be published.