The ATI News
News Portal

बड़ी खबर – पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी की मौत की झूठी खबर सोशल मीडिया हो रही वायरल, देखिए सच

2

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

बड़ी खबर – पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी की मौत की झूठी खबर सोशल मीडिया हो रही वायरल, देखिए सच

 

ATI NEWS DESK . 13/08/2020

 

पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी भी कोरोना संक्रमित,अस्पताल में हुए भर्ती
Photo Google

 

अजब गजब ।

 

नई दिल्ली। देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए गए हैं और वो अस्पताल में भर्ती हैं। 10 अगस्त को आर्मी रिसर्च एंड रेफरल(R&R) अस्पताल में उनकी ब्रेन क्लॉट की सर्जरी हुई ​थी। डॉक्टरों की टीम उनकी सेहत पर गंभीर नजर बनाए हुए हैं। इस बीच सोशल मीडिया पर खबर फैली कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का निधन हो गया है। जिसके बाद उनके बेटे अभिजीत मुखर्जी ने इसका खंडन किया है। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी ने ट्वीट करके बताया कि प्रणब मुखर्जी जिंदा हैं।

 

 

 

 इसके अलावा दिल्ली के आर्मी रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल ने प्रणब मुखर्जी के सेहत को लेकर बताया कि, “पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत में आज सुबह कोई बदलाव नहीं आया। वो अभी भी वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं।” इससे पहले मंगलवार को सेना के रिसर्च एंड रेफरल (आर एंड आर) अस्पताल ने बताया कि पूर्व राष्ट्रपति की हालत नाजुक बनी हुई है और उन्हें जीवनरक्षक प्रणाली पर रखा गया है।

 

 

 

 इससे एक दिन पहले उनके मस्तिष्क की सर्जरी की गई थी। मुखर्जी (84) को सोमवार की दोपहर के वक्त सैन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया था और सर्जरी से पहले उनमें कोविड-19 की भी पुष्टि हुई थी।
अस्पताल की ओर से जारी नए मेडिकल बुलेटिन में कहा गया था कि, “पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत नाजुक बनी हुई है और उन्हें जीवनरक्षक प्रणाली पर रखा गया है।

 

 

 

खून का थक्का बनने के कारण सोमवार को पूर्व राष्ट्रपति के मस्तिष्क की सर्जरी की गयी थी। उनकी हालत में कोई सुधार नजर नहीं आया है और स्थिति नाजुक बनी हुई है।”हालांकि भारतीय सोशल मीडिया यूजरों की बात की जाय तो श्रद्धांजलि देने में ये पीछे नहीं हटते ,भले ही व्यक्ति की मौत हुई हो या ना ।

 

 

 

जानिए कहां छिपा  है अरबों  के खजाने का राज जहां मौजूद है 30 टन सोना

Leave A Reply

Your email address will not be published.