The ATI News
News Portal

74वें स्वंत्रता दिवस के अवसर पर पीएम ने लाल किले से फहराया तिरंगा , कहा देश अपनी संप्रभुता के लिए है प्रतिबद्ध

1

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

74वें स्वंत्रता दिवस के अवसर पर पीएम ने लाल किले से फहराया तिरंगा , कहा देश अपनी संप्रभुता के लिए है प्रतिबद्ध

PC: ANI

74वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले से सातवीं बार फहराया तिरंगा और देश को संबोधित किया। पीएम ने अपने भाषण में कोरोना वायरस के खिलाफ छिड़ी इस जंग के बारे में बात की साथ ही LoC और LAC पर हुए सीमा विवाद को लेकर भी भारतीय सेना के शौर्य की तारीफ की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को संबोधित करते हुए कहा कि उन्हे विश्वास है कि भारत अपने 130 करोड़ देशवासियों की संकल्प शक्ति से कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग जीतेगा। प्रधानमंत्री मोदी ने ये भी कहा कि देश एक विशिष्ट परिस्थिति से गुजर रहा है।

उन्होंने कहा ‘कोरोना वायरस के इस असाधारण समय में, सेवा परमो धर्म: की भावना के साथ अपने जीवन की परवाह किए बिना हमारे डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस कर्मी, सफाई कर्मचारी, पुलिसकर्मी, सेवाकर्मी और अनेक लोग, चौबीसों घंटे लगातार काम कर रहे हैं।’ उन्होंने ये भी कहा कि पूरा देश इन कोरोना योद्धाओं पर गर्व कर रहा है।

सेना के शौर्य और पराक्रम पर गर्व

पीएम ने अपने इस भाषण में कहा मैं आज मातृभूमि पर न्योछावर उन सभी वीर जवानों को आदरपूर्वक नमन करता हूं जो देश की सीमाओं पर दिन रात देश की रक्षा में लगे हुए है।
उन्होंने कहा कि LoC से लेकर LAC तक जिसने भी हमें आंख दिखाई है हमने उन्हें माकूल जवाब दिया है।पीएम मोदी ने कहा कि हमारे जवान क्या कर सकते हैं इसे पूरी दुनिया ने लद्दाख में देखा।

इतनी आपदा के बाद भी सीमा पर देश के सामर्थ्य को चुनौती देने की गंदी कोशिश हुई है। लेकिन LoC से लेकर LAC तक देश की संप्रभुता पर जिस किसी ने भी आंख उठाई हमारे वीर जवानों ने उसका उसी की भाषा में जवाब दिया है। भारत की संप्रभुता की रक्षा के लिए पूरा देश एक जोश से भरा हुआ है और संकल्पों से प्रेरित है।इस संकल्प के लिए हमारे वीर जवान क्या कर सकते हैं, देश क्या कर सकता है ये लद्दाख में दुनिया ने देख लिया है।

रक्षा उत्पाद में भी आत्मनिर्भर बनेगा भारत

पीएम ने अपने संबोधन में आगे कहा कि भारत के जितने प्रयास शांति और सौहार्द के लिए हैं, उतना ही प्रतिबद्धता अपनी सुरक्षा के लिए भी है। अपनी सेना को मजबूत करने की है। उन्होंने कहा कि भारत अब रक्षा उत्पादन में आत्मनिर्भरता के लिए भी पूरी क्षमता से जुट गया है। देश की सुरक्षा में हमारे बॉर्डर और कोस्टल इंफ्रास्ट्रक्चर की भी बहुत बड़ी भूमिका है।

पीएम ने कहा कि हिमालय की चोटियां हों या हिंद महासागर के द्वीप, आज देश में रोड और इंटरनेट कनेक्टिविटी का अभूतपूर्व विस्तार हो रहा है।आज भारत ने असाधारण समय में असंभव को संभव किया है।इसी इच्छाशक्ति के साथ प्रत्येक भारतीय को आगे बढ़ना है।वर्ष 2022, हमारी आजादी के 75 वर्ष का पर्व, उन्होंने कहा कि हमारी Policies, हमारे Process, हमारे Products, सब कुछ सर्वश्रेष्ठ होने चाहिए, तभी हम एक भारत-श्रेष्ठ भारत की परिकल्पना को साकार कर पाएंगे।

यह भी पढ़ें;

दुनिया का सबसे ऊंचा मंदिर “बृहदेश्वर मन्दिर” 

गृह मंत्री अमित शाह हुए स्वस्थ , कोरोना वायरस रिपोर्ट आई नेगेटिव

Leave A Reply

Your email address will not be published.