The ATI News
News Portal

अब हर सरकारी नौकरियों के लिए एक ही परीक्षा, केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी का किया गठन

2

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

अब हर सरकारी नौकरियों के लिए एक ही परीक्षा, केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी का किया गठन

Pc :Google

शुभेन्द्र धर द्विवेदी| 20/08/2020

भारत में आए दिन नई नई सरकारी नौकरियों के लिए परीक्षाएं होती रहती है जिसमें लाखो छात्रा हिस्सा लेते है।
Ssc, बैंक, रेलवे एवं अन्य विभागों में भर्ती के लिए हर वर्ष अलग अलग परीक्षा अलग अलग समय पर आयोजित कराई जाती है जिससे परीक्षा देने वाले छत्रो को खासा दिक्कतों का सामना भी करना पड़ता है। मगर अब सरकारी नौकरियों के लिए अलग अलग परीक्षा नहीं देना पड़ेगा बल्कि हर नौकरी की एक ही परीक्षा कराई जाएगी। उसी के जरिए अलग-अलग पदों पर बहाली हो सकेगी

केंद्र सरकार ने इसके लिए नई राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (एनआरए) के गठन का ऐलान किया है। यह एजेंसी राष्ट्रीय साझा  परीक्षा (सीईटी) लेगी और इसी के जरिए भर्तियां होंगी। अब तरह-तरह के टेस्ट की जरूरत नहीं होगी। इससे अभ्यर्थियों का समय और संसाधन बचेगा। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को साझा पात्रता परीक्षा आयोजित करने के लिये राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी के गठन के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी।

जानिए कहा है दुनिया का सबसे ऊंचा मंदिर ” बृहदेश्वर मन्दिर “

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में यह निर्णय किया गया।एनआरए साल में दो बार ऑनलाइन माध्यम से साझा पात्रता परीक्षा आयोजित करेगा। सबकुछ ऑनलाइन होगा। अभ्यर्थियों का पंजीकरण, रोल नंबर, एडमिट कार्ड, अंक पत्र, मेधा सूची आदि सेवाएं ऑनलाइन मोड में संचालित होंगी।

तीन साल तक वैलिड रहेगा रिजल्ट

इसके अलावा सीईटी हिन्दी, अंग्रेजी के अलावा अनेक क्षेत्रीय भाषाओं में भी उपलब्ध होगी। यह देश के अलग-अलग इलाके के लोगों को समान अवसर प्राप्त करने में सहायक होगी। सीईटी बहु विकल्पीय प्रश्नों पर आधारित परीक्षा होगी और इसका रिजल्ट तीन साल तक वैलिड होगा।

जानिए कहां छिपा  है अरबों  के खजाने का राज जहां मौजूद है 30 टन सोना

बैठक के बाद सूचना एव प्रसारण मंत्री जावड़ेकर ने कहा कि ‘‘युवाओं को फिलहाल नौकरी के लिये कई अलग-अलग परीक्षाएं देनी पड़ती हैं। ऐसी परीक्षाओं के लिये अभी लगभग 20 भर्ती एजेंसियां हैं और परीक्षा देने के लिए अभ्यर्थियों को दूसरे स्थानों पर भी जाना पड़ता है।’’ उन्होंने कहा कि इस संबंध में परेशानियां दूर करने की मांग काफी समय से की जा रही थी। इसे देखते हुए मंत्रिमंडल ने साझा पात्रता परीक्षा लेने के लिये ‘राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी’ के गठन का निर्णय किया गया है।

क्या है एनआरए ?

वर्तमान में, सरकारी नौकरी के इच्छुक उम्‍मीदवारों को पात्रता की समान शर्तों वाले विभिन्‍न पदों के लिए अलग-अलग भर्ती एजेंसियों द्वारा संचालित की जाने वाली भिन्न-भिन्न परीक्षाओं में सम्मिलित होना पड़ता है। उम्‍मीदवारों को भिन्‍न-भिन्‍न भर्ती एजेंसियों को शुल्‍क का भुगतान करना पड़ता है और इन परीक्षाओं में भाग लेने के लिए लंबी दूरियां तय करनी पड़ती है। इन अलग-अलग भर्ती परीक्षाओं से उम्‍मीदवारों के साथ-साथ संबंधित भर्ती एजेंसियों पर भी बोझ पड़ता हैं। इसमें बार-बार होने वाले खर्च, कानून और व्यवस्था/सुरक्षा संबंधी मुद्दे और परीक्षा केन्द्रों संबंधी समस्याएं शामिल हैं।

 

महेंद्र सिंह धोनी के लिए BCCI आयोजित करेगा फेयरवेल मैच, ये है पूरी तैयारी

बड़ी खबर-सुशांत केस की सीबीआई करेंगी जांच

मान्यता दत्त ने संजय दत्त के बिमारी को लेकर कही ये बड़ी बात…

 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.