The ATI News
News Portal

रूस करेगा अपने वैक्सीन का 40 हजार लोगों पर परीक्षण…

2

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

रूस करेगा अपने वैक्सीन का 40 हजार लोगों पर परीक्षण…

 

ATI Desk | 21-08-2020

 

कब आएगी भारत में कोरोना की वैक्सीन ? देखिए कंपनी ने क्या दिया जवाब
Photo Google

कोरोना वायरस की संक्रमण से पूरी दुनिया परेशान है । सभी देश कोरोना की वैक्सीन बनाने में जुटे है । कुछ दिन पहले रूस ने दावा किया था कि वह कोरोना वैक्सीन बनाने में सफल हो गया है । रूस का कहना है कि वह इस वैक्सीन का अगले हफ्ते से 40000 लोगों पर परीक्षण करेगा । दअरसल रूस के वैक्सीन बना लेने के बाद उसपर टेस्टिंग के लॉन्च को लेकर सवाल उठने लगे थे ।इस पर रूस ने कहा है कि स्पुतनिक-वी वैक्सीन का फेज -3 परीक्षणों में 40,000 लोगों पर ट्रायल होगा।

 

 

 

 

रूस ने 11 अगस्त को फेज -3 परीक्षणों के बिना मास्को के गमलेया संस्थान द्वारा विकसित वैक्सीन को मंजूरी दे दी थी ।वैक्सीन ने केवल फेज -1 और फेज -2 मानव परीक्षणों का आयोजन किया था। वैक्सीन को पर्याप्त रूप से परीक्षण किए बिना लॉन्च करने के लिए रूस को वैश्विक आलोचना का सामना करना पड़ा था । रूस ने वैक्सीन के लिए एक विशेष वेबसाइट शुरू की है, जहां वैक्सीन से संबंधित सभी जानकारी और डेटा होगा। गुरुवार को रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष (RDIF), जो स्पुतनिक-वी वैक्सीन के विकास में सहयोग कर रहा है, ने एक विस्तृत बयान दिया, जिसमें यह सूचीबद्ध किया गया था कि टीका के बारे में उठाए जा रहे सवाल क्यों निराधार थे और क्यों टीका सार्वजनिक उपयोग के लिए सुरक्षित है।

 

 

महाराष्ट्र में 31 जुलाई तक बढ़ा लॉकडाउन
Photo Google

 

आपको जानकारी के लिए बता दें कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने इस महीने की शुरुआत में कहा था कि रूस कोरोना वायरस वैक्सीन पंजीकृत करने वाला पहला देश बन गया है, हालांकि इस घोषणा के बाद वैज्ञानिकों और विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा था कि अभी इसकी एक कठोर सुरक्षा समीक्षा की आवश्यकता है । रूस का कहना है कि 20 से अधिक देशों ने वैक्सीन की एक अरब से अधिक खुराक खरीदने के लिए कहा है, रूस ने इसे बनाने के लिए कई देशों के साथ समझौते किए है।

 

 

 

 

कहा गया है कि टीकाकरण अक्टूबर में शुरू होने की उम्मीद है और नवंबर या दिसंबर में पहली विदेशी डिलीवरी होगी ।रूस ने गुरुवार तक 942,000 से अधिक कोरोना वायरस संक्रमणों की पुष्टि की है, यह संयुक्त राज्य अमेरिका, ब्राजील और भारत के बाद चौथी सबसे बड़ी संख्या है यहां 16,000 से अधिक मौतें हुई हैं ।

 

 

रूस 45 लोकेशन पर टेस्ट करेगा कोरोना वैक्सीन

 

 

रशियन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड (आरडीआईएफ) ने ऐलान किया है कि कोरोना वैक्सीन – स्पूतनिक-V का अगले हफ्ते तीसरे फेज का ट्रायल शुरू करेगा। बताया गया है कि इस वैक्सीन को 45 लोकेशन पर 40 हजार लोगों पर टेस्ट किया जाएगा। RDIF का कहना है कि यह टेस्ट पहले से ही तय थे और इन्हें रूसी ड्रग रेगुलेटर के पास रजिस्ट्रेशन के बाद लोगों को दिया जाएगा।

 

कोरोना
Photo Google

किस देश को कैसे मिलेगी कोरोना वैक्सीन, WHO बना रहा योजना

 

 

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोना वैक्सीन को अलग-अलग देशों तक पहुंचाने के लिए दो फेज की योजना तैयार की है। इसके जरिए ज्यादा जोखिम वाले देशों को पहले वैक्सीन देने का प्रावधान रखा गया है और इसके बाद ज्यादा जनसंख्या और खतरे में दिख रहे देशों को वैक्सीन देने की बात कही गई है। दरअसल, डब्ल्यूएचओ पहले ही आशंका जता चुका है कि अमीर देश वैक्सीन कंपनियों से डील कर के सारी डोज अपने पास इकट्ठा कर सकते हैं। ऐसे में महामारी से जूझ रहे गरीब देशों को समस्या हो सकती है और इससे दुनिया में असंतुलन की स्थिति पैदा हो सकती है।

 

 

 

जानिए कहां छिपा  है अरबों  के खजाने का राज जहां मौजूद है 30 टन सोना

 

 

 

दुनियाभर के अमीर देश पहले ही कर चुके हैं वैक्सीन के लिए अरबों की डील

 

 

दुनियाभर के अमीर देश अब तक वैक्सीन की करोड़ों डोज के लिए अरबों का सौदा कर चुके हैं। इनमें अमेरिका, ब्रिटेन, जापान और यूरोपियन यूनियन के देश भी शामिल हैं। सिर्फ अमेरिका ने ही अब तक 5 कंपनियों से वैक्सीन की डोज खरीदने का सौदा किया है, जबकि ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्रा जेनेका द्वारा बनाई जा रही वैक्सीन के लिए भी दुनियाभर के विकसित देशों ने पहले ही ऑर्डर दे दिए हैं।

2 Comments
  1. […] रूस करेगा अपने वैक्सीन का 40 हजार लोगों … […]

  2. […] रूस करेगा अपने वैक्सीन का 40 हजार लोगों … […]

Leave A Reply

Your email address will not be published.