The ATI News
News Portal

कोरोना का कहर : जानिए क्यों एक परिवार से 21दिनों तक छिपाये रखा गया एक पिता के मौत की ख़बर

2

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

कोरोना का कहर : जानिए क्यों एक परिवार से 21 दिनों तक छिपाये रखा गया एक पिता के मौत की ख़बर

 

ATI Desk | 23-08-2020

 

कोरोना

जौनपुर। कोरोना नें इतनी तबाही मचा रखी है , न जाने कितने परिवार अनाथ हो गए । आए दिन कोरोना से मौत की ख़बर सुनने को मिल रही है । लेकिन जौनपुर जिले में पहली बार ऐसी कोई घटना सामने आयी है । जिसकी ख़बर सुनकर पूरा जौनपुर जिला सहम सा गया है । उस मंजर को सोचकर हर तरफ उसी परिवार की चर्चा हो रही है । बता दे कि जब कोरोना के खौफ से एक व्यक्ति की मौत के बाद उसके मृत्यु की सूचना उसके ही परिजनों को 21 दिन बाद दी जाती है।

 

नहीं टलेंगे NEET, JEE 2020 के एग्‍जाम्‍स विरोध के बीच सरकार का फैसला- सितंबर में होंगी दोनों परीक्षा

 

इसके पूर्व उसका सारा क्रिया कर्म उसके भाईयों द्वारा कर दिया गया। 21 दिन बाद जब परिजनों को यह सूचना मिली तब मानो समय थम सा गया हो , हर तरफ रोने की आवाज से पूरा माहौल ग़मगीन हो गया । वहाँ मौजूद हर कोई उस दृश्य को देखकर रो पड़ा । सोचिए उन पत्नी और बच्चों पर क्या बीती होगी जो उनका अंतिम दर्शन भी नहीं कर पाये हो ।

 

जानिए कैसे और क्या हुआ

 

अहमद खां मंडी, जौनपुर निवासी श्री प्रकाश गुप्ता की 30 जुलाई को सुबह अचानक तबियत खराब हुई जब उन्हें जिला अस्पताल ले जाया गया तो कोरोना पॉजिटिव होने की वजह से सांस लेने में दिक्कत का पता चला। उन्हें उसी दिन जलालपुर स्थित L2 हॉस्पिटल भेज दिया गया। अगले दिन उन्हें बी एच यू L3 हॉस्पिटल के लिए रेफर कर दिया गया इसी दौरान परिवार के अन्य 7 लोग भी पॉजिटिव घोसित हो चुके थे जिन्हें एल-1 तथा एल-2 हॉस्पिटल में रखा गया था।

 

इस दिन रिलीज होगी मिर्ज़ापुर सीजन 2, अमेज़न प्राइम विडियोज़ ने शेयर किया ये वीडियो

 

उनमें से भी दो लोगों की तबियत बहुत खराब थी। दो अगस्त को दोपहर 1 बजे श्री प्रकाश गुप्ता को हॉस्पिटल द्वारा मृत घोषित कर दिया गया। इस बीच परिवार के अन्य दो सदस्यों की तबियत काफी खराब थी जिसे ध्यान में रखते हुए श्री गुप्ता के अन्य भाईयों ने उनके मृत्यु की खबर से परिवार के सभी सदस्यों को बेखबर रखने का निर्णय लिया ताकि उनको कोई सदमा न लगे और अन्य लोग सलामत रहें।

 

पीयू के त्रीवर्षीय विकास क्रम का रोडमैप तैयार : कुलपति

 

अन्य भाइयों ने श्री गुप्ता का दाह संस्कार उसी दिन हरिश्चन्द्र घाट, वाराणसी में कर दिया लेकिन परिवार के सभी सदस्यों को बता के रखा गया कि श्री गुप्ता की बी एच यू में इलाज चल रहा है और वो वेंटिलेटर पे हैं।

इस खबर को अन्य परिवार के सदस्यों को घर आने के बाद भी 7 दिनों तक नही बताया गया जब परिवार के सभी सदस्य उन तक पहुँच सके और वे सातों लोग थोड़ा ठीक नजर आए तो दिनांक 23 अगस्त को श्री गुप्ता के मृत्यु की खबर अन्य सभी लोगों को दिया गया।

 

 

जानिए कहां छिपा  है अरबों  के खजाने का राज जहां मौजूद है 30 टन सोना

Leave A Reply

Your email address will not be published.