The ATI News
News Portal

जब शेरनियों ने पिता की तरह देखभाल करने वाले मालिक की ही जान ले ली

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

जब शेरनियों ने पिता की तरह देखभाल करने वाले मालिक की ही जान ले ली

 

वीर बहादुर सिंह | 29-08-2020

 

जब शेरनियों ने पिता की तरह देखभाल करने वाले मालिक की ही जान ले ली
Photo Amar Ujala

आज तक हम सभी जानवरों की वफादारी का मिसाल देते आए हैं जब कोई भी बात होता है तो लोग यही कहते हैं इंसान से ज्यादा वफादार जानवर होते हैं । कहीं-कहीं ऐसा भी देखने को भी मिला है जहाँ जानवर अपने मालिक की जान बचाने के लिए अपनी जान तक दे देते हैं । लेकिन आज आपको ऐसी घटना के बारे में बताएंगे । जिसे पढ़कर आप कह पड़ेंगे कि क्या ऐसा भी हो सकता है । आपको बता दें कि दक्षिण अफ्रीका से एक खौफनाक घटना सामने आई है, जहां पर एक शेरों के काम से जुड़े एक व्यक्ति को उन्हीं के पाले हुए शेरों ने उन पर हमला कर दिया जिसके बाद मालिक को अपनी जान गवानी पड़ी।

जब मैथ्यूसन टहल रहे थे तब शेरों ने उनपर किया हमला

यह घटना दक्षिण अफ्रीका के लिम्पोपो नाम के राज्य की है। 69 साल के वेस्ट मैथ्यूसन शेरों के संरक्षण के काम से बहुत सालों से जुड़े थे। मैथ्यूसन ने दो शेरनियों के बच्चों को अपने घर ले आए थे, जब वो बहुत छोटे थे।

 

BEURER BM35 UPPER ARM BLOOD PRESSURE MONITOR Black Colour

M.R.P.: ₹ 3,180.00
Price: ₹ 1,599.00

आपको बता दें कि मैथ्यूसन ने ही उन दोनों का पाला करता था। वह रोज तीन से चार घंटे शेरनियों के साथ बिताते थे। मालिक वेस्ट मैथ्यूसन अपनी दोनों सफेद शेरनियों के साथ घूम रहे थे। तभी अचानक पहले शेरनियां आपस में लड़ने लगी फिर उनमें से एक शेरनी ने उन पर हमला कर दिया और जिसके बाद उनकी मृत्यु हो गई।

 

क्या बढ़ने वाला है कोरोना का कहर , मृत्युदर में हो सकती है बृद्धि

 

टना के समय मैथ्यूसन की पत्नी गिल भी वहीं कार में मौजूद थी , बता दे कि गिल ने कार से ही अपने पति को बचाने के लिए शेरनियों को डराकर दूर हटाने की कोशिश की लेकिन शेरनियां वहाँ से हटी नहीं । जबतक शेरनियॉं वहॉं से हटी तो वह जल्द से जल्द मैथ्यूसन को वहां से उठाकर हॉस्पिटल ले गई। लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी और उन्हें बचाया नहीं जा सका। इसके बाद गिल ने शेरनियों को बेहोश कर दूसरे लॉज शिफ्ट किया गया। मैथ्यूसन के परिवार ने कहा कि शेरनियों के लिए जो माहौल अनुकूल होगा, उन्हें वहीं रखा जाना चाहिए। लेकिन कहते हैं जिसकी जहाँ जगह है होती है उसे वही रहने देना चाहिए ,जिसकी जो फितरत होती हैं वह फितरत नहीं छोड़ता है ।

News Source : Amar Ujala

 

 

लव जिहाद के मामलों पर सख्त यूपी सरकार, CM योगी उठा सकते हैं सख्त कदम

 

 

जानिए क्या हैं पॉलीग्राफी टेस्ट?क्या सीबीआई करा सकती रिया चक्रवर्ती का पॉलीग्राफी टेस्ट

 

अगर आपके पास है यह सिक्का तो आप भी बन सकते हैं मालामाल

 

 

जानिए कहा है दुनिया का सबसे ऊंचा मंदिर “बृहदेश्वर मन्दिर”

 

 जापान के प्रधानमंत्री “शिंजो आबे” ने प्रधानमंत्री पद से दिया इस्तीफा..

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.