The ATI News
News Portal

भारत में PUBG हुआ बैन,सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने 118 नए ऐप्स पर लगाया प्रतिबंध

1

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

भारत में PUBG हुआ बैन,सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने 118 नए ऐप्स पर लगाया प्रतिबंध

 

Pc:Google

 

 

 

 

 

 

शुभेन्द्र धर द्विवेदी | 02/09/2020

भारत सरकार ने PUBG समेत 118 मोबाइल ऐप्स को बैन कर दिया है।सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने लतकल रूप से
पबजी, पबजी मोबाइल लाइट, स्मार्ट ऐप्स लॉक, गमे आफ सुल्तान समेत कुल 118 ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया है।

इससे पहले भी भारत सरकार ने देश में प्रचलित चीन के 59 ऐप पर प्रतिबंध लगाया था। इनमें टिकटॉक, हेलो, वीचैट, यूसी न्यूज जैसे प्रमुख ऐप शामिल हैं। इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने कहा कि संप्रभु शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए और सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 69A के तहत इन चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाया गया है।

बैन करने का कारण

 

PUBG BAN In India
Photo Google

सरकार ने 118 मोबाइल एप्स पर प्रतिबंध लगाया है जो भारत की संप्रभुता और अखंडता, भारत की रक्षा, राज्य की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के लिए खतरा हैं। मंत्रालय ने कहा कि उसे विभिन्न सूत्रों से कई शिकायतें मिली हैं और कई ऐसी रिपोर्ट्स आई हैं जिनमें पता चला है कि एंड्रॉयड और आईओएस प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध कई मोबाइल एप उपयोगकर्ताओं का डाटा चुरा रहे थे और भारत से बाहर लोकेशंस पर अव्यवस्थित तरीके से भेज रहे थे। # भारत में PUBG हुआ बैन

 

 

इन ऐप्स पर लगा प्रतिबंध;

 

प्रतिबंधित एप्स की इस लिस्ट में कई लोकप्रिय एप्लीकेशन शामिल हैं। इनमें लोकप्रिय गेम पबजी मोबाइल, पबजी मोबाइल लाइट, बायडू, सुपर क्लीन, शायोमी का शेयरसेव, वीचैट वर्क, साइबर हंटर और इसका लाइट वर्जन, गेम ऑफ सुल्तान्स, गो एसएमएस प्रो, मार्वेल सुपर वार, लूडो वर्ल्ड-लूडो सुपरस्टार, राइज ऑफ किंगडम्स, गैलरी वॉल्ट, स्मार्ट एपलॉक (एप प्रोटेक्ट), डुअल स्पेस, क्लीनर-फोन बूस्टर, लैमोर, सिना न्यूज और टेंसेंट वाचलिस्ट आदि शामिल हैं। # भारत में PUBG हुआ बैन

 

रसोड़े वाला ये शो फिर से – साथ निभाना साथिया 2

 

नालंदा विश्वविद्यालय को नष्ट करने वाले आक्रांता बख़्तियार खिलजी के नाम पर बसा शहर “बख्तियारपुर

 

 

दुनिया का सबसे ऊंचा मंदिर “बृहदेश्वर मन्दिर”

 

जानिए कहां मनरेगा में हुआ बड़ा फर्जीवाड़ा, पैसे वालों का बना दिया जॉब कार्ड

1 Comment

Leave A Reply

Your email address will not be published.