The ATI News
News Portal

ऑनलाइन वेरीफिकेशन से पारदर्शिता और सुविधा दोनों का लाभ: गिरीश चंद्र यादव मैं पद से नहीं, नाम से पहचान बनाऊंगी: कुलपति

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

ऑनलाइन वेरीफिकेशन से पारदर्शिता और सुविधा दोनों का लाभ: गिरीश चंद्र यादव

 

ATI DESK. 25/09/2020

 

 

ऑनलाइन वेरीफिकेशन से पारदर्शिता और सुविधा दोनों का लाभ: गिरीश चंद्र यादव

मैं पद से नहीं, नाम से पहचान बनाऊंगी: कुलपति

पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर ऑनलाइन अवार्ड वेरिफिकेशन पोर्टल का शुभारंभ

 

जौनपुर । वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर के आईसीटी सेल एवं पंडित दीनदयाल उपाध्याय शोधपीठ के संयुक्त तत्वावधान में शुक्रवार को पंडित दीनदयाल उपाध्यायजी की जयंती के अवसर पर आर्यभट्ट सभागार में ऑनलाइन अवार्ड वेरिफिकेशन पोर्टल का शुभारंभ किया गया।

 

 

 

इस अवसर पर प्रदेश के आवास एवं शहरी नियोजन राज्यमंत्री श्री गिरीश चंद्र यादव ने कहा कि आनलाइन अवार्ड वेरिफिकेशन से नौकरी पाने वाले का वेरिफिकेशन आसानी से हो जाएगा। उन्होंने कहा कि इससे सुविधा के साथ-साथ पारदर्शिता भी बनीं रहेगी। उनका मानना है कि विश्वविद्यालय डिग्री के साथ- साथ विजन का भी केंद्र बने। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने गरीबों के जीवन में बदलाव के लिए अंत्योदय अन्नपूर्णा योजना, शौचालय,आवास योजना का जो लाभ दे रही है वह पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी का ही सपना था। हमारी सरकार उसी दिशा में काम कर रही है।

 

मैं पद से नहीं, नाम से पहचान बनाऊंगी: कुलपति

 

 

अध्यक्षीय उद्बोधन में विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. निर्मला एस. मौर्य ने कहा कि
मैं सहज और सरल हूं और रहूंगी भी। मैं एक विजन लेकर आई हूं और उसे पूरा करके जाऊंगी। मेरा मकसद शासन करना नहीं हैं मैं पद से नहीं अपने नाम से अपनी पहचान बनाना चाहती हूं। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय अपने आसपास प्रसन्नता का आभा मंडल बनाना चाहता है।
अतिथियों का ‌स्वागत भाषण श्री अमित वत्स ने किया।

 

 

 

इस अवसर पर वित्त अधिकारी श्री एमके सिंह ने कहा कि डिजिटल युग है। अब ई-कांटेंट के माध्यम से पढ़ाई शुरू हो रही है।आज विश्वविद्यालय में हर काम आनलाइन हो रहा है, इससे ‌विश्वविद्यालय के कर्मचारियों और विद्यार्थी दोनोें को लाभ होगा।अब सारी डिग्रियां डिजीलाकर में रखीं जाएंगी।

 

 

मैं पद से नहीं, नाम से पहचान बनाऊंगी: कुलपति

 

परीक्षा नियंत्रक श्री वीएन सिंह ने कहा कि विश्वविद्यालय तकनीक विकास की ओर बढ़ रहा है,इसे और आगे ले जाने की जरूरत है।
प्रबंधक श्री नरेंद्र मौर्य ने आनलाइन पोर्टल की तारीफ की। प्रबंधक अशोक कुमार सिंह ने आनलाइन परीक्षा कराने की मांग की। प्रबंधक राजकुंवर सिंह ने कहा कि आजमगढ़ को आवासीय विश्वविद्यालय बनाया जाए।

 

 

 

दुनिया का सबसे ऊंचा मंदिर “बृहदेश्वर मन्दिर”

 

 

 

संचालन डॉ. आशुतोष सिंह और धन्यवाद ज्ञापन कुलसचिव श्री सुजीत जायसवाल ने किया।इस अवसर पर पूर्व विधायक सुरेंद्र सिंह, हरिश्चंद्र सिंह, नीरज सिंह, शिक्षक संघ अध्यक्ष विजय प्रताप सिंह, महामंत्री डॉ. राहुल सिंह सहायक कुलसचिव अमृतलाल, डॉ.एसपी सिंह, डॉ. ‌अवनीश सिंह, प्रो. अजय द्विवेदी, प्रो. देवराज सिंह, डॉ.मनोज मिश्र, डॉ.राजकुमार, डॉ मनीष गुप्ता, डॉ.सुनील कुमार, डॉ. जाह्नवी श्रीवास्तव आदि शिक्षक कर्मचारियों ने भाग लिया।

 

चित्र परिचय

विज्ञान संकाय स्थित पंडित दीनदयाल की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित करते हुए राज्यमंत्री एवं कुलपति
आर्यभट्ट सभागार में संबोधित करते राज्यमंत्री श्री गिरीश चन्द्र यादव |

Leave A Reply

Your email address will not be published.