The ATI News
News Portal

15 दिसंबर ( अंतरराष्ट्रीय चाय दिवस)

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आपको बता दें कि आज यानी 15 दिसंबर को सन् 2005 से ही पूरे विश्व में “चाय दिवस” के रूप में मनाया जाता है। बहुत से ऐसे लोग हैं जिनके दिन की शुरुआत गरमा-गरम चाय से होती है, ऐसे लोगों को अगर दिन की शुरुआत में अच्छी चाय न मिले तो उनका पूरा दिन बेकार हो जाता है। लोगों का मानना है और यह सही भी है कि साथ में बैठकर चाय पीने से चाहत बढ़ती है। चाय उत्पादन और प्रसंस्करण विकासशील देशों में लाखों परिवारों के लिए आजीविका का मुख्य स्रोत है और लाखों गरीब परिवारों के लिए निर्वाह का मुख्य साधन है जिससे वह अपना गुज़ारा करते हैं।

बता दें कि अंतरराष्ट्रीय चाय दिवस दुनिया भर में चाय के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है। अब तक के पूरे इतिहास में चाय एक मूल्यवान आर्थिक वस्तु रही है। यह दिन हर साल लोगों और सरकार का ध्यान चाय की महत्ता की ओर खींचने के लिए मनाया जाता है। यूनाइटेड नेशंस के एक शोध के मुताबिक, दुनियाभर में चाय पानी के बाद दूसरे नंबर का सबसे ज़्यादा मात्रा में इस्तेमाल होने वाला पेय पदार्थ है।

चाय पीने के क्या हैं फ़ायदे ?

यह सच है कि चाय चाहे ब्लैक टी हो या ग्रीन टी या किसी भी और फ्लेवर की, सभी चाय में एंटीऑक्सीडेंट्स , एंटी कैटेचिन्स और पोलीफेनॉल्स होते हैं जो हमारे शरीर को सकारात्मक रूप से प्रभावित करते हैं।

• ग्रीन टी मूत्राशय, ब्रेस्ट, फेफड़े, पेट और अग्नाशय के लिए एंटीऑक्सीडेंट का काम करती है और कोलोरेक्टल कैंसर के विकास की रोकथाम में भी फ़ायदा करती है।

• काली चाय में सबसे ज़्यादा कैफ़ीन सामग्री होती है, अध्ययनों से पता चला है कि काली चाय सिगरेट के धुँए के संपर्क की वजह से फेफड़ों को नुकसान पहुँचाने से रक्षा करती है। यह स्ट्रोक का खतरा भी कम करती है।

• काली चाय में कॉफ़ी के मुकाबले कम कैफ़ीन होता है, जिसको पीने से आपके शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को संक्रमण से लड़ने में बहुत मदद मिलती है। सर्दी-ज़ुकाम जैसी आम बीमारियाँ चाय पीने से एक दम गायब हो जाती हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.