सड़कछाप गुंडे की बद्तमीज़ी से तंग आकर नाबालिग ने‌ तेज़ाब पीकर की आत्महत्या

0

आगरा। आए दिन देश में लड़कियों के साथ बढ़ती छेड़खानी (flirting) और दुष्कर्म (rape) के मामले ने मानो रातों की नींद हराम कर दी है। दरिंदों (minds) की हरकतों ने सड़क पर महिलाओं व लड़कियों का चलना तक दुश्वार कर रखा है। अब लड़कियों के पास केवल कुछ ही रास्ते बचे हैं जिसमें या तो वह इन मनचलों से डरकर अपने घरों में ही कैद हो जाएँ, या बाहर निकलकर इनकी दरिंदगी का शिकार हो जाएँ और या फ़िर इनकी रोज़ की हरकतों से तंग आकर खुदकुशी कर लें।

कुछ ऐसा ही हुआ है शनिवार को यूपी (UP) के जिला आगरा (Agra) में जहाँ एक इंटर की छात्रा ने किसी आवारा मनबढ़ लड़के की बेहूदा हरकतों से परेशान होकर तेजाब (acid) पी लिया और खुद की जीवन लीला ही समाप्त (suicide) कर ली। आपको बता दें कि 19 वर्षीय युवती इंटरमीडिएट की छात्रा थी। वो शहर के लोहामंडी (Lohamandi) क्षेत्र में रहती थी। वह कुछ महीने पहले ही अपनी माँ के साथ मलपुरा (Malpura) स्थित अपने दूसरे मकान में रहने गई थी।

उसके बाद से ही गाँव के टीटू ने उस पर छींटाकशी (flirting) कर उसका जीना दुश्वार कर रखा था। कुछ दिन पहले युवती के घरवाले मामले की रिपोर्ट दर्ज (report file) कराने थाने (police station) भी गए थे मगर वहाँ दोनों पक्षों में समझौता हो गया था। इसके बाद टीटू के साथ उसका पिता चंद्रभान और पड़ोसी विजय भी ताने (taunt) मारने लगे।

इस पर दोनों परिवारों की महिलाओं में तकरार भी हुई थी। लगातार हो रही ऐसी घटनाओं से युवती परेशान रहने लगी। उसे लगा कि उसकी वजह से घरवालों को भी परेशानी हो रही है। इस पर उसने घर में रखा तेजाब (acid) पी लिया। परिजन (guardian) उसे नर्सिंग होम (nursing home) लेकर आए।

यहाँ से प्रारंभिक उपचार के बाद उसे एसएन मेडिकल कॉलेज (S N medical college) रेफ़र कर दिया गया, जहाँ उसने दम तोड़ दिया। एसओ मलपुरा अरुण बालियान (SO Malpura Arun Baliyan) ने बताया कि आरोपी युवक के पिता चंद्रभान और विजय को गिरफ़्तार (arrest) कर लिया गया है। टीटू की तलाश (search) की जा रही है। मृत्यु पूर्व युवती के मजिस्ट्रेटी बयान (magisterial statement) दर्ज कराए गए थे। उनको भी देखा जा रहा है।

आरोपियों के ख़िलाफ़ आत्महत्या (suicide) के लिए दुष्प्रेरित (abetted) करने की धारा 306 के तहत कार्रवाई की जा रही है। एसएसपी आगरा मुनिराज (SSP Agra Muniraj) जी ने कहा है कि जानकारी मिलते ही मुकदमा दर्ज कराया गया। दोनों आरोपियों को गिरफ़्तार भी कर लिया गया है। युवती के मजिस्ट्रेटी बयान कराए गए थे। उन्हें देखने पर कोई नया तथ्य सामने आएगा तो उस पर भी कार्रवाई (action) की जाएगी। साथ ही उन्होंने मृतका के परिजनों को तसल्ली देते हुए कहा कि वह उनकी बेटी को वापस तो‌ नहीं ला सकते मगर उसे इंसाफ़ (Justice) दिलाने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है और जल्द ही पुलिस परिवार (family) को न्याय (Justice) दिलाने का वायदा भी करती है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.