मरीजों के फेफड़े, किडनी, दिल व लीवर पर भी अटैक कर रहा रहस्यमयी बुखार, सजग रहने की हिदायत

0

उत्तर प्रदेश। रहस्यमयी बुखार अब बच्चों के सेंसिटिव अंगों (sensitive body parts) को भी अपने शिकंजे में ले रहा है। इस बुखार के कारण बच्चों के दिल (heart), लिवर (lever), फेफड़े (Lungs) और किडनी (kidney) जैसे अंग प्रभावित हो रहे हैं। उनमें मल्टी सिस्टम इन्फ्लेमेटरी सिंड्रोम (multi system inflammatory syndrome) जैसे लक्षण (symptoms) मिल रहे हैं।

मुश्किल यह है कि कोविड जाँच (Covid test) में संक्रमण (infection) की भी पुष्टि नहीं हो रही है। लक्षणों (symptoms) से पहली नज़र में यह वायरल फीवर (viral fever) ही लग रहा है लेकिन सामान्य वायरल की तुलना में यह बुखार दोगुने समय तक बने रहने के कारण मरीजों (patients), तीमारदारों (nurses) के साथ ही डॉक्टरों (doctors) की चिंता बढ़ गई है।

T20 वर्ल्ड कप के लिए सेलेक्ट होते ही वायरल हुआ अश्विन का ट्वीट!

बालरोग विशेषज्ञों (pediatrician) की संस्था गोरखपुर पीडियाट्रिक एसोसिएशन (Organization Gorakhpur Pediatric Association) के पूर्व अध्यक्ष डॉ. आरके सिंह ने बताया कि ओपीडी (OPD) में मरीजों (patients) की संख्या बेतहाशा बढ़ रही है। ज़्यादातर अस्पतालों (hospitals) में बच्चों के वार्ड फुल हो रहे हैं। बेड आकुपेंसी (bed occupancy) 90 फीसदी से अधिक है।

यह तेज़ बुखार फेफड़े के अलावा किडनी पर भी असर डाल रहा है। उन्होंने बताया कि हाई ग्रेड फीवर (high grade fever) की वजह से शरीर के कई अंग प्रभावित (limb affected) हो रहे हैं और इससे मरीज की जान (death) जाने की संभावना भी तेज़ी से बढ़ रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.