विधानसभा चुनाव में अब बुज़ुर्गों-दिव्यांगों को नहीं लगानी पड़ेगी लाइन, आयोग देगा पोस्टल बैलेट से मतदान करने की सुविधा

0

उत्तर प्रदेश। इस बार के विधानसभा चुनाव (Assembly elections) में जनता को बढ़िया नेता मिले या न मिले मगर चुनाव व्यवस्था (election system) में आयोग (commission) किसी प्रकार की कोई असुविधा नहीं होने देगा। जी हाँ, इस बार के विधानसभा चुनाव में आयोग ने बुज़ुर्ग (elderly) और दिव्यांग (Handicapped) मतदाताओं (voters) को राहत दी है।

कल्याण सिंह: UP की राजनीति का वो ‘अम्ल’, जो ‘क्षार’ से उलझकर अपनी सियासत जला बैठा!

विधानसभा चुनाव में 80 साल से अधिक बुज़ुर्ग और दिव्यांग मतदाताओं को अब मतदान केंद्र (Polling Booth) पर जाने की जरूरत नहीं हैं और न ही उन्हें चुनावी भीड़ में जाकर लाइन लगानी पड़ेगी। ऐसे मतदाताओं को आयोग की ओर से पोस्टल बैलेट (postal ballot) से मतदान (voting) की सुविधा प्रदान की जाएगी।

चुनाव आयोग ((election Commission) इसको लेकर जोरों-शोरों से तैयारियाँ कर रहा है। साथ ही हर जिले (district) में जाकर ऐसे लोगों की सूची भी तैयार की जा रही है जो बुज़ुर्ग और दिव्यांग हैं। बता दें कि हरदोई (Hardoi) में 51 हज़ार बुज़ुर्ग और 18 हजार 383 दिव्यांग मतदाता चिन्हित (marked) किए गए हैं। आने वाले विधानसभा चुनाव पर सभी राज्यों (states) की नज़र टिकी हुई है। चुनाव को लेकर एक तरफ़ जहाँ सभी पार्टियों ने तैयारियाँ शुरू कर दी हैं, वहीं चुनाव आयोग भी जोरों-शोरों से तैयारियाँ कर रहा है।

क़िस्से उस दिग्गज के, जिसकी एक लाइन ने 16 साल के सचिन को पाकिस्तान टूर करा दिया!

आयोग की ओर से कोविड प्रोटोकॉल (Covid protocol) के तहत अतिरिक्त मतदान केंद्र (Voter’s Center) भी बनाए जा रहे हैं। साथ ही बुज़ुर्गों और दिव्यांगों को पोस्टल बैलेट के ज़रिए मतदान कराने के लिए उनकी लिस्ट बननी भी शुरू हो चुकी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.