रामपुर में बंदरों ने वकील से बैग छीनकर हवा में उड़ा दिए उसके लाखों रुपए

0

उत्तर प्रदेश। यूपी ‌(UP) के जिला रामपुर (Rampur) के शाहबाद नगर (Shahbad Nagar) में बंदरों (monkeys) ने एक लाख रुपये हवा में उड़ा (blown into the air) दिए और लोगों ने भी रुपयों की बारिश (money rain) का खूब फायदा (took advantage) उठाया‌। यहाँ शाहबाद के तहसील परिसर में अजीब घटना (strange phenomenon) घटी जब विनोद बाबू एडवोकेट के हाथ से एक लाख रुपये का नोटों से भरा बैग (bag) लेकर बंदर भाग गए (ran away)।

ममता बनर्जी का कार्टून फॉरवर्ड करना भारी पड़ा, 9 साल बाद प्रोफेसर को राहत मिली, वो भी मामूली

इनमें से एक बंदर पाँच-पाँच सौ रुपये की दो नोटों की गड्डियाँ (bundles of notes) लेकर पेड़ पर चढ़ गया (climbed the tree)। एक गड्डी तो बंदर ने नीचे फेंक दी (thrown down) और दूसरी गड्डी लेकर बंदर पेड़ पर चढ़ा रहा। एडवोकेट विनोद के बेटे आशीष वशिष्ठ ने बताया कि पिता जी शाहबाद तहसील (Shahbad Tehsil) में बार (bar) के सीनियर एडवोकेट (senior advocate) हैं। आज पिताजी मधुकर ब्रांच (Madhukar branch) गए थे, उन्हें सैविया कला ब्रांच (Savia Arts Branch) में एक लाख रुपये जमा (deposit) करना था। लौटते वक्त (while returning) थोड़ी देर तहसील में रुके।

UP चुनाव: मेडिकल कॉलेज के ये सीक्रेट्स आपने कभी नहीं सुने होंगे?

उन्होंने बताया कि तहसील की गेट (on tehsil’s gate) पर किसी ने बंदरों के खाने के लिए खाना (food) डाल दिया था। वहाँ पर काफी बंदर इकट्ठा (so much monkeys Collect) हो गए थे और पिताजी के हाथ से पैसे का थैला (money bag) बंदर लेकर भाग गया। एडवोकेट (Advocate) की मदद (help) से सारा पैसा इकट्ठा (collect all the money) हो पाया। उसमें से 17 नोट कम (17 notes less) रह गए लेकिन मैं सभी एडवोकेट और लोगों का शुक्रिया (thankful to all) करना चाहता हूँ जिनकी मदद से पैसा इकट्ठा हो पाया।

गुजरात: CM भूपेंद्र पटेल की टीम में 24 नए मंत्री, गृह मंत्रालय किसे मिला?

Leave A Reply

Your email address will not be published.