अयोध्या में बन रहे भव्य राम मंदिर की नींव की भरपाई का काम अंतिम चरण में, 2023 तक हो सकेंगे रामलला के दर्शन

0

उत्तर प्रदेश। अयोध्या (Ayodhya) में बन रहे भव्य राम मंदिर (Grand Ram Mandir) निर्माण (Construction) के पहले चरण (first step) का काम पूरा हो गया है। राम मंदिर का आधार (Base) बनकर पूरी तरह से तैयार हो गया है। गर्भगृह (sanctum sanctorum) के नीचे 14 मीटर मोटी चट्टान ढाली गई है। श्रीराम जन्मभूमि (Shri Ram Janmabhoomi) तीर्थ क्षेत्र (pilgrimage area) के महासचिव चंपत राय (General Secretary Champat Rai) ने गुरुवार (Thursday) को इंडिया टीवी (India TV) के साथ विशेष बातचीत में बताया कि राम मंदिर निर्माण का पहला फ़ेज़ (first phase) आज पूरा हो गया है, मंदिर का आधार बन गया है।

सेहत: लड़कियों को होने वाला इंफेक्शन, बैक्टिरियल वजाइनोसिस क्या है?

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अयोध्या में राम मंदिर निर्माण कार्य चल रहा है। राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया, ”नींव कंक्रीट की है। 2 तरह के पत्थर हैं। कर्नाटक (Karnataka) का ग्रेनाइट (Granite), मिर्जापुर (Mirzapur) का सेंडस्टोन (Sandstone)। एक ब्लॉक (block) 16 घनफुट (cubic foot) का है। ऐसे 30,000 ब्लॉक एक के ऊपर एक रखे जाएंगे।” अयोध्या में बन रहे भव्य राम मंदिर की नींव की भरपाई का काम अंतिम दौर (final round) में है। अगले 2 महीने में राम मंदिर के दूसरे फेज का काम पूरा हो जाएगा।

KRK के साथ केस में बॉम्बे हाई कोर्ट ने सलमान खान को नोटिस भेज दिया

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के महासचिव चंपत राय ने बताया कि 2023 तक भव्य राम मंदिर बनकर तैयार (complete) हो जाएगा। गौरतलब है कि राम मंदिर तीन मंजिला होगा, गर्भ गृह में रामलला तो दूसरे तल पर राम दरबार विराजित (Ram Darbar Virajit) होगा। मंदिर का परकोटा (wall) साढ़े 6 एकड़ में बनाया जाएगा। बताया जा रहा है कि बनने वाला राम मंदिर करीब 5 सौ वर्षों तक सुरक्षित (safe) रहेगा। निर्माण कार्य काफी तेजी से चल रहा है। राम मंदिर दिसंबर 2023 तक बनकर पूरा हो जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.