कोटेदार की मनमानियों का सिलसिला हुआ ख़त्म, अब नहीं चुरा सकेंगे गरीबों का राशन

0

उत्तर प्रदेश। एक समय था जब राशन की दुकानों (ration shops) पर समय से पहले ही ‘राशन खत्म हो गया है’ के बोर्ड (board) लग जाया करते थे और जरूरतमंद कोटेदार (needy kotedar) की मनमानियों (arbitrary) के शिकार (Hunt) थे। लेकिन अब वो ‘समय खत्म हो गया है’। सूबे (province) में गरीबों (poots) और जरूरतमंदों (needy) को राहत (relief) पहुँचाने के लिये प्रदेश सरकार (State Government) ने जहाँ एक तरफ़ राशन वितरण की व्यवस्था (ration distribution system) को भ्रष्टाचार रहित (corruption free) बनाया है।

भारतीय जनता पार्टी के नेता की गिरफ़्तारी के लिए आई पश्चिम बंगाल पुलिस की हुई जमकर पिटाई

वहीं दूसरी तरफ़ राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (National Food Security Act) (एनएफ़एसए) योजना (scheme) के तहत नए राशन कार्ड (ration card) बनाने की प्रक्रिया (process) को तेज (fast) किया है। बीते छह माह में 1,61, 256 लोगों के नए राशनकार्ड बनाए गए हैं। इसके चलते अब प्रदेश में एनएफएसए राशनकार्ड धारकों (ration card holders) की संख्या बढ़कर 3,60,12,758 हो गई है। इनमें से 3,59,97,869 एनएफएसए राशनकार्ड को आधार कार्ड से जोड़ दिया गया हैं। यह नया रिकार्ड (record) है, क्योंकि सूबे के 99.79 फीसद राशन कार्ड अब आधार कार्ड (Aadhar card) से जुड़ गए हैं।

योगी सरकार ने बढ़ाई डॉक्टरों के रिटायरमेंट की उम्र, अब 70 में होंगे रिटायर

इतनी बड़ी संख्या में किसी अन्य राज्य में अभी राशन कार्डों को आधार कार्ड से जोड़ा नहीं जा सका है। यूपी (UP) अब देश (country) का ऐसा राज्य (state) हो गया है, जिसके 99.79 राशन कार्ड अब आधार कार्ड से लिंक (link) हैं। राशन कार्डों को आधार कार्ड से जोड़ने के चलते अब राशन वितरण (ration distribution) में होने वाली धांधली (Fraud) पर पूरी तरह रोक (ban) लग गई है। इसके साथ ही ई-पास (E-pass) (प्वाइंट आफ सेल) मशीन (point of sale machine) के उपयोग (use) से राशन वितरण में अब कोटेदार (Kotedar) की धांधली पर अंकुश (boundation) लगाया गया है।

UP चुनाव: आगरा में कमियां गिनाते युवा क्यों बोले- नेता कोई हो, यहां लोग वोट BJP को ही देंगे

हर राशन कार्ड धारक को राशन मिल रहा है। अब उन लोगों को भी राशन देने की व्यवस्था (arrangement) कर ली गई है जिनके अंगूठे का निशान (thumbs print) का मिलान (match) नहीं हो पा रहा था। ऐसे राशन कार्ड धारकों को मोबाइल ओटीपी (mobile OTP) के आधार (basis) पर राशन मुहैया (ration available) कराया जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.