यूपी में अपनी सत्ता के साढ़े चार साल पूरे होने पर सीएम योगी ने आज लखनऊ में पेश किया अपनी सरकार का रिपोर्ट कार्ड

0

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में अगले साल चुनाव (election) होने हैं। योगी सरकार (Yogi Government) उत्तर प्रदेश की सत्ता (Power) में साढ़े चार साल पूरे कर चुकी है। इस मौके पर आज सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने लखनऊ (Lucknow) में अपनी सरकार (government) का रिपोर्ट कार्ड (report card) पेश (Present) किया। योगी सरकार का दावा (Claim) है कि उन्होंने अपनी सरकार के साढ़े चार साल के कार्यकाल (tenure) में पूर्व की सपा (SAPA) और बसपा (BASPA) सरकारों से बेहतर काम (better work) किया है।

झारखंड: करमा पूजा के दौरान विसर्जन के लिए गईं 7 लड़कियों की तालाब में डूबकर मौत!

मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा कि हम सब आभारी (Thankful) हैं देश (country) के और‌ पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के जिनके नेतृत्व (Leadership) में सरकार ने अपने साढ़े 4 साल का कार्यकाल (tenure) पूरा किया है। यूपी आबादी के लिहाज़ से (in terms of population) सबसे बड़ा प्रदेश (state) है। सुरक्षा सुशासन (security good governance) में यूपी (UP) ने जो उपलब्धियाँ हासिल (Achievements achieved) की हैं उसने यूपी के परसेप्शन (perception) को देश और दुनिया (world) में बदला (change) है। मुख्यमंत्री ने कहा कि “हम जब सरकार में आए तो लोग भूख से मर (dying of hunger) रहे थे, क्योंकि राशन कार्ड (ration card) बने ही नहीं थे और जो बने थे वो निरस्त (canceled) हो चुके थे।

बागपत के प्रसिद्ध मां दुर्गा मन्दिर में हुआ ऐतिहासिक जागरण

लेकिन हमने टेक्नोलॉजी (technology) का सहारा (Support) लिया और सबके कार्ड (card) बनवाए। कोटे (quota) को ई-पाश मशीन (E-pass machine) से जोड़ा (added) और टेक्नोलॉजी का हमें फ़ायदा (benefit) मिला। इससे सरकार को 1200 करोड़ की बचत (Savings) हो रही है। हमने 1 लाख 43000 करोड़ गन्ना मूल्य (sugarcane price) का भुगतान (payment) किया। धान ख़रीद (Paddy Purchase) में 2020 कोरोना काल (Corona period) के बावजूद (Despite) हमनें 66 लाख मीट्रिक टन धान (Paddy) सीधे किसानों (direct farmers) से ख़रीदा (Bought)।

बीएड के सत्र 2021-2023 में एडमिशन के लिए मेन काउंसिलिंग के फर्स्ट राउंड में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू

Leave A Reply

Your email address will not be published.