लखीमपुर खीरी में बिजली की केबिल जोड़ने के लिए पोल पर चढ़े संविदाकर्मी की करंट लगने से हुई मौत

0

उत्तर प्रदेश। यूपी (UP) के लखीमपुर खीरी (Lakhimpur khiri) ज‍िले (district) में मंगलवार (Tuesday) को दर्दनाक हादसा (traumatic accident) हो गया। बिजली की केबिल (electric cable) को जोड़ने (joint) के लिए पोल (poll) पर चढ़े संविदाकर्मी (Contract worker) की करंट (current) लगने से मौत (death) हो गई।

बीजेपी सांसद मेनका गाँधी सुल्तानपुर के प्राथमिक स्कूल में पहुँचकर बच्चों के बीच बैठीं और लिया पढ़ाई का जायज़ा

हादसे (accident) के बाद पुलिस (police) ने बिजली विभाग (electricity department) के चार जिम्मेदार अधिकारियों (responsible officers) एसडीओ (SDO), एसएसओ (SSO) और जेई औरंगाबाद (JE Aurangabad) पर गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज (Case registered for culpable homicide not amounting to murder) किया है। जानकारी के मुताब‍िक, लखीमपुर खीरी के औरंगाबाद पॉवर हाउस (power house) पर काम (work) कर रहे संविदाकर्मी संजय सोमवार शाम को बलदेव सिंह के झाले पर केबिल जोड़ने (cable joint) के लिए बिजली के पोल पर चढ़े थे।

दिल्ली से औरैया जा रही स्लीपर बस में दरिंदों ने माँ के सामने जबरन बेटी के साथ किया दुष्कर्म

तभी अचानक से करंट (current) लगने पर नीचे आकर गिर (fallen down) पड़े। मौके पर मौजूद लोगों ने संजय को अस्पताल (hospital) पहुँचाया, जहाँ डॉक्टरों (doctors) ने उन्हें मृत घोषित (dead announced) कर दिया। संजय की मौत की ख़बर (news) सुनते ही परिजन (family members) आक्रोशित (angry) हो गए और हंगामा (Ruckus) करने लगे।

अब पति पर सिर्फ़ पत्नी की प्रताड़ना के आधार पर आत्महत्या के लिए उकसाने का नहीं बनेगा केस: इलाहाबाद हाईकोर्ट

परिजनों ने ब‍िजली विभाग पर लापरवाही (Negligence) सहित असंवेदनशीलता का आरोप (allegation of insensitivity) लगाते हुए आक्रोश जाहिर (shown) किया है। परिजनों की माने तो संविदाकर्मी की मौत के बाद कोई भी जिम्मेदार (responsible) न तो मौके (opportunity) पर पहुँचा और न ही फ़ोन (phone) पर हाल-चाल (Well being) लेना मुनासिब (reasonable) समझा। इससे लोगों में आक्रोश (Anger) हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.