यूपी पुलिस पर फिर लगा एक आरोप, जालौन के फल विक्रेता ने कहा कि पुलिस बिना किसी गलती के की मारपीट

0

उत्तर प्रदेश।

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) पुलिस (police) पर फिर एक दाग (Stain) लगा है। इस बार यूपी (UP) के जालौन (Jalaun) में फल विक्रेता (fruit vendor) ने पुलिस पर मारपीट (beaten) का आरोप (allegation) लगाया है। पीड़ित (the victim) ने पुलिस पर गंभीर आरोप (serious allegation) लगाते हुए कहा कि पड़ोसी (neighbor) से विवाद (controversy) होने के बाद वह थाने (police station) में शिकायत (complaint) करने गया था।

लखीमपुर खीरी में बिजली की केबिल जोड़ने के लिए पोल पर चढ़े संविदाकर्मी की करंट लगने से हुई मौत

जहाँ पर दारोगा (Inspector) ने उससे अभद्रता (indecency) के साथ मारपीट (beaten) की। एक ओर थाने में आने वाले फ़रियादियों (complainants) के साथ सूबे (province) के मुख्यमंत्री (Chief Ministers) और डीजीपी (DGP) पुलिसकर्मियों (policemen) को अच्छा व्यवहार (polite behave) करने की नसीहत (suggestion) दे रहे हैं तो वहीं ऐसे आरोप (blame) कहीं न कहीं पुलिस को सवालों के घेरे में (in question) खड़ा करते नज़र आ रहे हैं। ऐसा ही एक मामला जालौन के माधौगढ़ कोतवाली क्षेत्र (Madhaugarh Kotwali area) के एक गाँव (village) से सामने आया है।

बीजेपी सांसद मेनका गाँधी सुल्तानपुर के प्राथमिक स्कूल में पहुँचकर बच्चों के बीच बैठीं और लिया पढ़ाई का जायज़ा

जहाँ करन सिंह फल का ठेला (fruit stall) लगाकर अपने परिवार (family) का भरण पोषण (Maintenance) करता है। करन ने बताया कि उसका अपने पड़ोसी वीरेंद्र से किसी बात को लेकर विवाद हो गया था। जिसकी शिकायत (complaint) करने वह थाने पहुँचा था। मगर उसकी बात सुनने की जगह दारोगा (police inspector) ने उससे ही अभद्र व्यवहार (Indecent behavior) किया और मारपीट (Beating) के उसे थाने (police station) से बाहर (Outside) निकाल दिया।

दिल्ली से औरैया जा रही स्लीपर बस में दरिंदों ने माँ के सामने जबरन बेटी के साथ किया दुष्कर्म

Leave A Reply

Your email address will not be published.