लखीमपुर हिंसा मामले का मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा हर वक्त बदल रहा है अपनी लोकेशन, अभी उत्तराखंड के बाजपुरा में है मौजूद

0

लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Khiri) के तिकुनिया कांड मामले (Tikunia case) में पुलिस (police) मुख्य आरोपी (main charged) आशीष मिश्र मोनू (Ashish Mishra Monu) का बयान दर्ज कराने (record statement) के लिए क्राइम ब्रांच (crime branch) ने शुक्रवार सुबह (Friday morning) 10 बजे पुलिस लाइन (police line) में तलब (summoned) किया था लेक‍िन वह पुल‍िस (police) के समक्ष (front) पेश (Present) नहीं हुआ।

रंजीत हत्याकांड: सीबीआई कोर्ट ने सुनारिया जेल में बंद राम रहीम सहित पांच आरोपियों को दोषी करार…..

अब इस केस (case) में सूत्रों के हवाले से (citing sources) खबर (news) आ रही है कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री (Union Minister of State for Home) अजय मिश्रा (Ajay Mishra) के आरोपी बेटे अशीष मिश्रा (charged son Ashish Mishra) की पहली लोकेशन (first location) भारत-नेपाल बॉर्डर (India-Nepal border) पर मिली (found) थी।

NASA को रोवर ने भेजीं नई तस्वीरें,मिली विशालकाय झील…

यह लोकेशन (location) नेपाल (Nepal) के गुरी फेंटा (Guri Fenta) के आसपास (Nearby) की थी। यूपी पुल‍िस (UP police) को पता चला है (found out that) क‍ि आशीष म‍िश्रा अपनी लोकेशन (location) बार-बार बदल (change) रहा है। आशीष की शुक्रवार सुबह की लोकेशन उत्तराखंड (Uttarakhand) के बाजपुरा (Bajpura) की पता चली है।

आशीष म‍िश्रा के ख‍िलाफ पुल‍िस को म‍िला सबूत! कार में था मौजूद….

बताया जा रहा है क‍ि लखीमपुर खीरी पुलिस (Lakhimpur khiri police) ने नेपाल और उत्तराखंड पुलिस दोनों से संपर्क (contact) किया है। गौरतलब है कि आशीष के खिलाफ (against) हत्या (murder) के साथ ही अन्य धाराओं (other sections) में मामला दर्ज (Case filed) किया गया है। वहीं सूत्रों (sources) का ये भी कहना है कि मामले के तूल पकड़ने (catch up) के साथ ही आशीष मिश्रा फरार (absconding) हो गया है।

आशियाने की आस में बैठा ये बुजुर्ग।। छत मिलेगी या मौत।।TeamATI | जौनपुर

इसी को देखते हुए यूपी पुलिस ने टीमें गठित (forming teams) कर उनकी तलाश (search) शुरू की है। अब आशीष को पकड़ने (catch) के लिए पुलिस कई इलाकों (areas) में छापेमारी (raid) करने जा रही है। वहीं इससे पहले मंत्री अजय मिश्रा ने कहा था कि मैंने अपने बेटे (son) को कहीं नहीं छुपाया (hid)। वह बड़ा है। सोच-समझकर निर्णय (decision) लेता है। उसे जब सामने (front) आना होगा तो आएगा। वह खुद फैसले लेता है। अजय मिश्रा ने कहा कि पूरे मामले में न्यायिक जाँच (judicial justice) हो रही है, सब कुछ सामने आ जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.