देश में कोरोना की तीसरी लहर की आशंका: ISCCM

0

नई दिल्ली : आईएससीसीएम ने एक बयान में कहा कि सत्र में अस्पतालों में गंभीर मरीज देखभाल इकाइयों के महत्व पर जोर दिया गया, जो नाजुक स्थिति वाले मरीजों को बचाने में जीवनरेखा के तौर पर काम करती हैं और कुशल चिकित्सा कर्मी व तकनीकी रूप से अपडेट सुविधाओं को वहां काफी जरूरत होती है.

चलती ट्रेन में 8 बदमाशों ने युवती से किया गैंगरेप, पति के साथ पुष्पक ट्रेन में कर रही थी सफ़र….

अगर आप भी फ़्लिपकार्ट से करते हैं शाॅपिंग तो हो जाइए सावधान, कहीं इनकी तरह आपके अकाउंट से भी पैसे न उड़ा ले जाए डिलीवरी ब्वॉय

डॉ दीपक गोविल ने कहा, “गंभीर मरीज देखभाल विशेषज्ञों, नर्सों और तकनीशियनों की देश में भारी कमी है जो महामारी के दौरान खुल कर सामने आई.”

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी 10 अक्टूबर को पीएम के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में करेंगी किसान न्याय रैली

Leave A Reply

Your email address will not be published.