असमंजस में पड़े चाचा शिवपाल यादव, भतीजे अखिलेश की तरफ़ से अभी तक नहीं आया कोई भी प्रस्ताव….

0

लखनऊ। लंबे समय से चली आ रही खींचतान के बाद आखिर सपा-प्रसपा (SAPA-BASPA) की राहें जुदा ही दिख रही हैं। प्रसपा (PRASPA) प्रमुख शिवपाल सिंह यादव की ओर से सपा के सामने समझौते के लिए दी गई आखिरी तारीख सोमवार को समाप्त हो गयी, लेकिन अखिलेश (Akhilesh) का कोई जवाब नहीं आया।

सीएम योगी का सख़्त आदेश, यूपी में त्योहारों के बीच अराजकता व अव्यवस्था उत्पन्न करने वाले का बुरा होगा हाल….

मंगलवार से शिवपाल (Shivpal) सामाजिक परिवर्तन यात्रा के साथ चुनावी शंखनाद करने जा रहे हैं। सपा में वर्चस्व को लेकर छिड़ी पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव व प्रसपा प्रमुख शिवपाल सिंह यादव के बीच की जंग का पटाक्षेप होता दिखाई नहीं दे रहा है। दोनों के बीच समझौते (agreement) के अब तक हुए प्रयास विफल ही रहे हैं।

कोयले की कमी के चलते गहराया बिजली संकट, योगी सरकार ने अफसरों को चेताया कि कम से कम होनी चाहिए कटौती….

गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के आरोपी बेटे आशीष मिश्रा को 3 दिनों की पुलिस कस्टडी में भेजा गया….

प्रसपा प्रमुख शिवपाल सिंह यादव ने 28 सितंबर को अपने बेटे आदित्य यादव के सहकारी बैंक (Cooperative bank) के सभापति के निर्वाचन के दौरान कहा था कि वह सपा से समझौते का 11 अक्टूबर तक इंतजार करेंगे। उन्होंने कहा था कि सपा को समझौते का प्रस्ताव दिया है। 11 अक्टूबर तक जवाब आ जाता है तो कोई बात नहीं और अगर जवाब नहीं आता है, तो वह अपनी चुनावी तैयारी (election preparation) में जुट जायेंगे।

रालोद प्रमुख जयंत चौधरी ने लखीमपुर हिंसा के पीड़ित किसानों से कहा, वोटों के जरिए लें अपने ऊपर हुए अत्याचारों का बदला

Leave A Reply

Your email address will not be published.