क‍िसने बनाई थी पाक आतंकी अशरफ की फर्जी ID….

0

भारत में आने के बाद पाकिस्तानी आतंकी अशरफ अली ने बिहार में किससे अपनी फ़र्ज़ी आइडेंटिटी बनवाई थी ? दिल्ली पुलिस की पूछताछ के बाद आतंकी ने बताया है की बिहार में एक गांव के सरपंच ने उसकी फ़र्ज़ी आइडेंटिटी बनवाने थता उसको वहाँ की नागरिकता दिलवाने में मदत की।

डेंगू का कहर….

अगले सप्‍ताह से घरेलू कमर्शियल फ्लाइट्स उड़ान भर सकेंगी….

दिल्ली अदालत ने आतंकी को दो हफ्ते हिरासत में रखने और पूछताछ करने का आदेश दिया था। जिसे कथित तौर पर आतंकी वारदात को अंजाम देने और आईएसआई से संबंध रखने के लिए गिरफ्तार किया गया था.आतंकी जब पहली बार साल 2004 में पाकिस्तान से बांग्लादेश और कोलकाता होते हुए भारत में दाखिल हुआ था तो उसके बाद वह सीधे अजमेर शरीफ गया.

बुलंदशहर में दो पुलिसकर्मियों द्वारा हमला किए जाने पर ई-रिक्शा चालक की हुई मौत, आक्रोशित हैं परिजन….

अजमेर शरीफ में उसकी मुलाकात बिहार के कुछ लोगों से हुई, जिसके बाद वह उनके साथ बिहार चला गया. बिहार में जाकर उसने एक गांव में शरण ली और वहां पर कुछ समय रहकर सरपंच का विश्वास जीता और सरपंच से कागज में लिखवाकर गांव का निवासी होने की आइडेंटिटी बनवाई.

सीएम योगी का पुतला फूँकने वाले 16 सपा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने किया गिरफ़्तार….

इसी आईडेंटिटी की बदौलत वह देश के दूसरे राज्यों में भी गया और उसके बाद दिल्ली आकर उसने धीरे-धीरे अपने सभी दस्तावेजों को बनाना शुरू कर द‍िए. राशन कार्ड बनाने के बाद उसने वोटर आईडी कार्ड बनाया और उसके बाद पासपोर्ट तक बना डाला.

उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश सिंह ने कहा कि अब विश्वविद्यालयों के टॉपर्स के नाम पर भी होगा गौरव पथ का निर्माण….

Leave A Reply

Your email address will not be published.