फर्जी अंकपत्र के इस्तेमाल संबंधित 28 साल पुराने मामले में अयोध्या के BJP विधायक को हुई 5 साल की जेल….

0

अयोध्या। अयोध्या (Ayodhya) के गोसाईगंज से भारतीय जनता पार्टी (BJP) के विधायक इंद्र प्रताप तिवारी को सोमवार को एक विशेष अदालत ने कॉलेज में दाखिला के लिए फर्जी अंकपत्र (marksheet) के इस्तेमाल संबंधी 28 साल पुराने मामले में 5 साल जेल की सजा सुनाई है।

दबंगों से त्रस्त आकर अनुसूचित जाति परिवार गाँव से पलायन करने को हुआ मजबूर, घर पर “मकान बिकाऊ है” का लगाया पोस्टर….

विशेष न्यायाधीश पूजा सिंह ने फैसला सुनाया और अदालत में मौजूद तिवारी को हिरासत में लेकर जेल (jail) भेज दिया गया। अदालत ने तिवारी पर आठ हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया। गोसाईगंज विधानसभा क्षेत्र से इंद्र प्रताप तिवारी उर्फ खब्बू तिवारी निर्वाचित हुए हैं।

भारत के पहले प्रधानमंत्री होंगे नरेंद्र मोदी जो महापरिनिर्वाण स्थल आकर करेंगे भगवान बुद्ध के दर्शन….

तिवारी के खिलाफ 1992 में अयोध्या के साकेत डिग्री कॉलेज (Saket Degree College) के तत्कालीन प्राचार्य यदुवंश राम त्रिपाठी ने राम जन्मभूमि थाना में मामला दर्ज कराया था। प्राथमिकी (FIR) के अनुसार स्नातक के दूसरे वर्ष में अनुत्तीर्ण हुए तिवारी ने 1990 में फर्जी मार्कशीट जमा कर अगली कक्षा में प्रवेश लिया था।

बेमौसम बारिश से किसान बेहाल, तिल्ली, मूँगफली, उड़द, धान और मक्के की फसल हुई पूरी तरह से बर्बाद….

इस मामले में 13 साल बाद आरोपपत्र दाखिल किया गया था। कई मूल दस्तावेज (Document) रिकॉर्ड से गायब हो गए और सुनवाई के दौरान वादी त्रिपाठी की भी मौत हो गई। साकेत कॉलेज के तत्कालीन डीन महेंद्र कुमार अग्रवाल और अन्य गवाहों (witnesses) ने तिवारी के खिलाफ गवाही दी।

लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में आज सुप्रीम कोर्ट सुनाएगा फैसला, यूपी सरकार की तरफ़ से कोर्ट ने माँगी रिपोर्ट….

Leave A Reply

Your email address will not be published.