भारत के पहले प्रधानमंत्री होंगे नरेंद्र मोदी जो महापरिनिर्वाण स्थल आकर करेंगे भगवान बुद्ध के दर्शन….

0

कुशीनगर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ऐसे पहले प्रधानमंत्री होंगे जो भगवान बुद्ध (Lord Buddha) के महापरिनिर्वाण स्थल आकर भगवान बुद्ध के दर्शन करेंगे। प्रधानमंत्री मंदिर में भगवान बुद्ध की शयन मुद्रा की प्रतिमा का पूजन अर्चन करने के बाद चीवर (Cheever) चढ़ाएँगे।

बेमौसम बारिश से किसान बेहाल, तिल्ली, मूँगफली, उड़द, धान और मक्के की फसल हुई पूरी तरह से बर्बाद….

इसके पहले सन् 1956 में भगवान बुद्ध की 2500वीं जयंती पर तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू (Pt.Jawaharlal Nehru) ने दलाई लामा (Dalai Lama) सहित बौद्ध धर्म को मानने वाले कई देशों के राष्ट्राध्यक्षों को बुलाया था, लेकिन खुद नहीं आए थे। नरेंद्र मोदी पहले ऐसे प्रधानमंत्री होंगे जो बौद्ध धर्म (Buddhism) में सबसे महत्वपूर्ण स्थान रखने वाले बुद्ध के महापरिनिर्वाण मंदिर (Mahaparinirvana Temple) आकर पूजा करेंगे।

लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में आज सुप्रीम कोर्ट सुनाएगा फैसला, यूपी सरकार की तरफ़ से कोर्ट ने माँगी रिपोर्ट….

इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंदिर परिसर में इंटरनेशनल बौद्ध भिक्षु सम्मेलन को संबोधित करेंगे। मंदिर परिसर में ही प्रधानमंत्री 20 बौद्ध भिक्षुओं को चीवर दान भी करेंगे। पहली बार किसी प्रधानमंत्री के भगवान बुद्ध के महापरिनिर्वाण मंदिर आने से बौद्ध भिक्षु उत्साहित हैं। कुशीनगर (Kushinagar) में भगवान बुद्ध ने अपने भौतिक शरीर का परित्याग किया था। बौद्ध धर्म में इसे महापरिनिर्वाण प्राप्त करना कहा जाता है।

चुनाव आते ही कांग्रेस नेताओं का पार्टी छोड़ने का सिलसिला जारी, प्रियंका के सलाहकार हरेंद्र मलिक व पार्टी उपाध्यक्ष पंकज मलिक ने दिया इस्तीफ़ा

इसलिए हर साल एक लाख से अधिक बौद्ध धर्मावलंबी कुशीनगर आते हैं। विश्व के 23 देश बौद्ध धर्म को सबसे अधिक मानते हैं। कुशीनगर स्थित भगवान बुद्ध के महापरिनिर्वाण मंदिर पर हर साल विदेशी राजदूत आते रहते हैं इसलिए भारत (India) और अन्य देशों से रिश्ते सुधारने में भी इस मंदिर का खास योगदान है।

शौचालय में गिरने के कारण हुई पोते की मौत का सदमा बर्दाश्त नहीं कर सके दादा, उनकी भी मौत

Leave A Reply

Your email address will not be published.