गांव मलाणा में आधी रात को भीषण अग्निकांड….

0

कुल्लू। करीब 1700 लोगों की आबादी वाला ये मलाणा गांव सैलानियों के बीच खूब मशहूर है. दुनियाभर से लोग यहां घूमने के लिए आते हैं. हालांकि, मलाणा तक पहुंचना बहुत ही मुश्किल है. इस गांव के लिए कोई भी सड़क नहीं है. पहाड़ी पगडंडियों से होते हुए ही यहां तक पहुंचा जा सकता है. पार्वती घाटी की तलहटी में स्थित जरी गांव से यहां तक सीधी चढ़ाई है.डीसी कुल्लू आशुतोष गर्ग भी घटना स्थल के लिए रवाना हुए हैं।

माँ की तेरहवीं संस्कार पर 11 बच्चियों के नाम कराई 5-5 हज़ार रुपए की FD….

उनका कहना है कि प्रशासन की तरफ से सभी पीड़ित परिवारों को हरसंभव मदद दी जाएगी।सड़क सुविधा ना होने से गांव तक अग्निशमन विभाग की गाड़ी भी नहीं पहुंच पाई है. प्रशासन ने रात को होमगार्ड के दर्जनों जवानों की टीम घटना स्थल पर भेजी गई थी।

शादी के लिए फरहान अहमद ने रखी धर्मांतरण की शर्त….

सुबह तक आग पर काबू पाया गया है. हालांकि, बताया जा रहा है कि 16 घर आग की चपेट में आ गए हैं.एसडीएम कुल्लू विकास शुक्ला घटना स्थल पहुंचे हुए हैं. राजस्व विभाग के अधिकारी नुक्सान का आंकलन कर रहे है।

कुल्हाड़ी से काटा पत्नी का गला,बैठा रहा लाश के पास….

Leave A Reply

Your email address will not be published.