जानिए आख़िर क्या है आगरा के मेहताब बाग में बनी 11 सीढ़ियों का रहस्य..??

0

आगरा। आगरा (Agra) में यमुना (Yamuna) के किनारे मेहताब बाग (Mehtab Bagh) में 11 सीढ़ी बनी है। आख़िरकार 11 सीढ़ियों को बनाने के पीछे का क्या रहस्य है..? यह 11 सीढ़ियाँ किस वजह से बनाई गई होगी और यह केवल 11 सीढ़ी ही क्यों रह गई इससे ज़्यादा भी तो बनाई जा सकती थी..? ऐसे तमाम सवाल आपके जहन में उठ रहे होंगे।

कोबरा के काटने पर उसे भी पकड़कर हॉस्पिटल ले गया युवक, मचा हड़कंप….

11 सीढ़ियाँ आगरा में यमुना के किनारे मेहताब बाग में स्थित है। ये ऐतिहासिक होने के साथ साथ बेहद रहस्यमई भी है। इन 11 सीढ़ियों का निर्माण मुगल बादशाह हुमायूँ (Mughal Emperor Humayun) ने करवाया था। हुमायूँ ज्योतिष शास्त्र में बेहद यकीन रखता था इसलिए इसे ज्योतिष वेधशाला के नाम से भी जाना जाता है।

कानपुर में जीका वायरस तेज़ी से पसार रहा पाँव, मरीजों की संख्या हुई 19….

इस सीढीयों की विशेषता है कि ये एक ही पत्थर से काटकर बनाई गई है। इस जगह से ताजमहल (Taj Mahal) और लाल किले (Red Fort) का बेहद मनमोहक दृश्य दिखाई देता है। यूँ कहें तो ताजमहल और लाल किले के बिल्कुल बीचों-बीच यह 11 सीढ़ियाँ बनी हुई हैं। हुमायूँ सुकून की चाह में इस जगह आता था और घंटों यहाँ पर बैठकर समय गुजारा करता था।

निर्धारित समय अनुसार खुले और बंद हो दारू और बीयर की दुकाने – जिलाधिकारी

11 सीढ़ियों के पास एक रहस्यमयी कुआँ भी बना हुआ है। जिसमें आज तक पानी मौजूद है। कहा जाता है कि इस कुएँ के पानी का स्त्रोत सीधे यमुना से जुड़ा है। जब तक यमुना में पानी है तब तक इस कुएँ में भी पानी है। कुएँ के अंदर गुप्त कमरे जैसे हॉल बने हुए हैं। किसी को नहीं पता कि आखिर इनका क्या उपयोग रहा होगा..? इस कुएँ में कई दुर्घटनाएँ भी हो चुकी हैं।

यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर आज दूसरे दिन भी हुए IPS Officers के तबादले….

जिस वजह से अब भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (Archaeological Survey of India) ने कुएँ को लोहे के जाल से बंद कर दिया है। कुछ लोग यह भी कहते हैं कि इस स्थान को कुछ लोग वैद्यशाला (hospital) इसलिए कहते है क्योंकि यहाँ पर हुमायूँ के लिये औषधि बनाई जाती थी। यहाँ जड़ी-बूटी पीसने वाला छोटा सा गड्ढा आज भी मौजूद है।

लखीमपुर हिंसा के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा की जमानत अर्जी पर फैसला आज….

अब यह जगह भारतीय पुरातत्व संरक्षण के अंडर में है और यह जगह को अब नए तरीके से बनाई जा रही है। अब इस जगह को पर्यटन स्थल (tourist spot) घोषित कर दिया गया है। कुछ ही महीनों बाद यहाँ पर पर्यटक घूमने के लिए आएँगे और उन्हें कुछ शुल्क भी देना पड़ेगा।

यूपी में तेज़ी से बढ़ रहा डेंगू का प्रकोप, मरीजों की संख्या हुई 18 हज़ार के पार….

Leave A Reply

Your email address will not be published.