ATI NEWS
पड़ताल हर खबर की ...

बैंक के कर्ज से परेशान प्राइवेट स्कूल के मैनेजर ने लगाई फाँसी, सुसाइड नोट में बेटी से मुखाग्नि दिलाने की कही बात

0

उत्तर प्रदेश। उत्‍तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के देवरिया (Deoria) में एक निजी स्‍कूल के प्रबंधक ने फंदे से लटककर आत्‍महत्‍या (suicide) कर ली। उनके पास से सात पेज एक सुसाइड नोट (suicide note) मिला है जिसमें उन्‍होंने अपनी पत्‍नी नीतू से माफी माँगी है। सुसाइड नोट में कई अन्‍य भावुक बातों के साथ लिखा है ‘नीतू मुझे क्षमा करना, अपना लक्ष्‍य कभी मत भूलना। बेटी का ख्याल रखना। मेरे शरीर को बेटी आराध्या ही मुखाग्नि (fire) देगी, तो मुझे शांति मिलेगी। मेरा सपना है, बेटी अधिकारी (officer) बने।

http://जश्न ए जौनपुर के प्रतियोगिता में लीजिए भाग और जीतिए एक लाख का इनाम

परिजन बेटी को उसका हक, अधिकार जरूर दे देंगे। बताया जा रहा है कि रुद्रपुर कोतवाली क्षेत्र के ग्राम अहलादपुर मरकड़ी के रहने वाले अमित यादव (उम्र 35 वर्ष) लॉकडाउन (lockdown) के समय से ही काफ़ी परेशान चल रहे थे। वह बैंक के कर्ज (bank loan) को लेकर तनाव में रहते थे। अमित, मुंबई (Mumbai) से कम्प्यूटर इंजीनियर (computer engineer) की पढ़ाई करने के बाद गाँव आ गए। पाँच साल पहले एलबीआर पब्लिक स्कूल के नाम से पिड़रा मार्ग (Pidra road) पर विद्यालय चलाते थे। स्कूल बढ़िया चल रहा था। जिसके चलते उन्होंने दो बस और तीन मैजिक गाड़ी (magic car) बैंक से लोन पर खरीदा था। लेकिन लॉकडाउन में स्कूल बन्द हो जाने के कारण दिक्कत हो गई और वह गाड़ियों का किश्त नहीं जमा कर पा रहे थे। इसी के चलते तनाव (depression) में आकर उन्होंने आत्महत्या कर ली।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.