ATI NEWS
पड़ताल हर खबर की ...

500 रूपए देने से इंकार करने पर छोटे भाई ने की अपने बड़े भाई की हत्या, पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ़्तार

0

मेरठ। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मेरठ (Meerut) जिले में 500 रुपए के विवाद में छोटे भाई ने बड़े भाई की हत्या (Murder) कर दी। घटना के बाद इलाके में सनसनी फैल गई। हत्या (murder) की सूचना पर शुक्रवार सुबह आसपास के लोगों की भीड़ लग गई। पुलिस (police) ने हत्या करने वाले छोटे भाई रिंकू को गिरफ़्तार (arrest) कर लिया है। सूचना मिलने पर मौके पर पहुँची पुलिस ने शव (dead body) को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम (autopsy) के लिए भेज दिया।

मुलायम की बहू अपर्णा का सपा सरकार पर तीखा प्रहार: कहा सपा के गुंडे भाजपा सरकार में माँग रहे हैं अपनी जान की भीख

बताया जा रहा है कि दोनों ने एक साथ बैठकर शराब (Liquor) पी थी। जहाँ दोनों के बीच विवाद (Discussion) हो गया था। छोटा भाई रुपए माँग रहा था तो बड़े भाई ने मना कर दिया। इसी बात पर छोटे भाई ने रस्सी से बड़े भाई का गला घोंट दिया (strangled)। जानकारी के मुताबिक, मेरठ के परतापुर थाना क्षेत्र के रिठानी निवासी मोनू पल्लेदारी करता था। गुरुवार देर शाम मोनू छोटे भाई रिंकू के साथ घर के पास ही शराब पीने लगा, वहाँ पड़ोस के दो अन्य युवकों ने भी साथ में शराब पी।

49 हजार का कुंडल, 20 हजार की रुद्राक्ष माला, रिवॉल्वर-राइफल भी… जानिए कितनी है CM योगी आदित्यनाथ की संपत्ति

इस बीच रिंकू ने बड़े भाई से कहा, “आज बारिश का मौसम है, और शराब पीनी है। जब तक नशा पूरा न हो मैं पीता रहूँगा।” इस पर मोनू ने कहा कि रात बहुत हो गई है। जाकर कमरे में सो जाओ। उसके बाद दोनों में बहस शुरू हो गई। इस पर मोनू ने कहा कि 500 रुपए दूर एक रुपए नहीं दूँगा। फिर रिंकू ने रस्सी लेकर मोनू के गले में लपेट दी और तेजी से कसने लगा।

सपा प्रत्याशी पूजा शुक्ला ने की NDTV से खास बातचीत, कहा सीएम योगी को संवाद से ज़्यादा पसंद है विवाद

मोनू तड़पता रहा, लेकिन वो नहीं माना और उसकी मौत (death) हो गई। पुलिस का कहना है कि दोनों ही भाई शराब के आदी रहे हैं। मोनू की सात साल पहले शादी (marriage) हुई थी। पत्नी इसलिए परेशान रहती थी की पति मोनू शराब पीता था। इसी के चलते पत्नी भी उसे छोड़कर अपने मायके चली गई थी। घटना (Tragedy) के बाद मृतक के घर में चीख पुकार मची हुई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.