ATI NEWS
पड़ताल हर खबर की ...

लोगों में तेज़ी से बढ़ रहा योगी बाबा के “बुलडोज़र” का क्रेज़, फैन्स अब बनवा रहे इसका टैटू

0

उत्तर प्रदेश। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (Uttar Pradesh Assembly Elections) में अपराधियों (criminals) और माफ़ियाओं (mafias) के खिलाफ ‘बुलडोज़र’ चलाने का स्लोगन (slogan) दिया गया था। इस बुलडोज़र (buldozer) को योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने अपने चुनावी भाषणों मे जमकर घुमाया भी। उनके समर्थकों (supporters) ने उन्हें ‘बुलडोज़र बाबा’ का नया नाम भी दे दिया। अब चुनाव में बहुमत (majority) से सत्ता (Power) में लौटे योगी आदित्यनाथ खुद तो हिट हो ही गए, साथ ही उनका बुलडोज़र भी सुपहिट हो रहा है।

UP के मंत्री रवींद्र जायसवाल ने लगाया EVM ख़राब होने का आरोप, BJP की जीत का किया दावा…..

अब जनता, बुलडोज़र टैटू (buldozer tattoo) बनवाकर योगी आदित्यनाथ का स्वागत कर रही है। बुलडोज़र बाबा का क्रेज़ इतना ज़्यादा बढ़ गया है कि लोग यूपी (UP) में चुनाव (election) जीतने के बाद अपने हाथों पर बुलडोज़र का टैटू बनवा रहे हैं। इतना ही नहीं, बुलडोज़र बाबा का नाम भी लिखवा रहे हैं। वाराणसी (Varanasi) के अस्सी घाट (Assi ghat) पर एक टैटू शॉप में ऐसा ही नज़ारा देखा गया। यहाँ लोग अपने हाथों पर बुलडोज़र का टैटू और बुलडोज़र बाबा का नाम लिखवा रहे हैं।

बीजेपी समर्थक सुनील कुमार का कहना है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जितने गुंडे माफ़िया हैं, सब के ऊपर बुलडोज़र चलवा दिया। हमारी बहन बेटियाँ अब सुरक्षित हैं। इसलिए मैंने अपने हाथ पर बुलडोज़र बाबा टैटू बनवा लिया है। टैटू आर्टिस्ट (tattoo artist) सुमित का कहना है कि जब से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश विधानसभा 2022 में बंपर जीत हासिल की है, लोग हाथों पर टैटू बनवा रहे हैं।

मोहनलाल विधानसभा से पहली बार हुई BJP की जीत, सपा को बुरी तरह से करना पड़ा हार का सामना

मैं आधा दर्जन टैटू बना चुका हूँ। लोगों में बुलडोज़र बाबा का क्रेज़ बढ़ चुका है। उन्हें चाहने वाले, टैटू बनवा कर दिखा रहे हैं कि बुलडोज़र बाबा आ रहे हैं। देखा जाए, तो अभी तक यह क्रेज़ प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) के लिए देखा जाता रहा है। लोग प्रधानमंत्री मोदी को इतना चाहते हैं कि उनके प्रति अपनी दीवानगी को अलग-अलग अंदाज़ से बयाँ करते हैं। हाल ही में महिलाओं की साड़ियों पर भी मोदी की तस्वीर छपी देखी गई थी। महिलाओं ने मोदी प्रिंट की साड़ियाँ (Modi print sarees) खूब पहनीं थीं। लेकिन ये पहली बार है कि मोदी के अलावा किसी और राजनेता (politician) से जनता इतनी प्रभावित हुई हो।

Leave A Reply

Your email address will not be published.