ATI NEWS
पड़ताल हर खबर की ...

आगरा में एक डॉक्टर ने मुँह से ऑक्सीज़न देकर नवजात को बचाया, भगवान बनकर बच्ची को दी नई ज़िन्दगी

0

आगरा। यूपी (UP) के आगरा (Agra) के एत्मादपुर (Etmadpur) में एक सरकारी महिला चिकित्सक (government ladies doctor) ने एक नवजात बच्ची को अपने मुँह से ऑक्सीज़न (oxygen) देकर उसे बचा लिया। महिला चिकित्सक ने नवजात के मुँह से मुँह सटाकर साँसें भरी और उसकी साँसों को थमने नहीं दिया। इस बीच प्रसूता माँ (pregnant mother) बच्ची की ज़िन्दगी की आस में चिकित्सक को एकटक देखे जा रही थी।

उधर, महिला चिकित्सक तब तक कोशिश करती रही जब तक नवजात की किलकारी नहीं गूँजी। अंतत: चिकित्सक के प्रयास ने एक नवजात को जीवन प्रदान कर दिया। यह मामला आगरा के एत्मादपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (Etmadpur Community Health Centre) का है। यहाँ खुशबू नाम की महिला ने एक बच्ची को जन्म दिया, लेकिन नवजात साँस नहीं ले पा रही थी। फिर ऑपरेशन थियेटर (operation theater) में प्रसव (delivery) करा रहीं डॉ. सुरेखा चौधरी (Dr. Surekha Chaudhary) द्वारा नवजात को मशीन (machine) से ऑक्सीज़न देने का प्रयास किया, लेकिन वो भी असफल रहा।

UP में योगी मंत्रिमंडल विस्तार, OBC और दलित पर फोकस …….

इसके बाद डॉ. सुरेखा ने नवजात को अपने मुँह से लगाकर साँस देना शुरू कर दिया। यह देख वहाँ मौजूद स्टाफ़ हतप्रभ रह गया। एक स्टाफ़ ने इसका वीडियो (video)भी बना लिया। डॉ.सुरेखा खून से लथपथ नवजात को मुँह से साँस देने के साथ-साथ सीने पर पम्प कर रही थीं। आखिरकार उनकी कोशिश रंग लाई और वह नवजात को जीवन देने में सफल रहीं।

CM योगी आदित्यनाथ के शपथ ग्रहण समारोह को ग्रैंड इवेंट के रूप में मनाएगी BJP, हर जिले में LED स्क्रीन्स पर होगा इसका लाइव प्रसारण

इस संबंध में डॉ.सुरेखा ने कहा कि उन्होंने नवजात को सात मिनट तक मुँह से साँस दी जिससे उनकी कोशिश रंग लाई और नवजात बच्ची साँस लेने लगी। इससे संबंधित दो मिनट 50 सेकंड का एक वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल (video viral on social media) हो रहा है। इसके साथ डॉ.सुरेखा चौधरी ने कहा, ‘शुरुआत में नर्स (nurse) ने नवजात का प्रारंभिक इलाज किया, लेकिन यह काम नहीं किया। अंतत: मैंने उसे मुँह सटाकर कम से कम सात मिनट तक साँस देना शुरू किया जिससे उसकी जान बच गई।’

Leave A Reply

Your email address will not be published.