ATI NEWS
पड़ताल हर खबर की ...

योगी सरकार ने दूसरा कार्यकाल शुरू करते ही 15 करोड़ जनता को दी खुशख़बरी: अभी 3 महीने तक निरंतर मिलेगा मुफ़्त राशन

0

लखनऊ। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में योगी आदित्यनाथ सरकार (Yogi Government) के दूसरे कार्यकाल की पहली कैबिनेट बैठक (cabinet meeting) में राज्य के 15 करोड़ लोगों को खुशख़बरी दी गई है। इस बैठक में मुफ़्त राशन योजना (Free Ration Scheme) को अगले 3 महीनों तक और जारी रखने का फैसला लिया गया है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कैबिनेट बैठक के बाद खुद इस बात का ऐलान किया। सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने अपनी पहली कैबिनेट बैठक के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस (press conference) में कहा, ‘आज की कैबिनेट बैठक में हमने मुफ़्त राशन योजना को अगले तीन महीने तक और बढ़ाने का फैसला किया है।

BJP सरकार में एकमात्र मुस्लिम मंत्री के तौर पर दानिश अंसारी ने ली शपथ, कहा “मैं पार्टी के प्रति अपने कर्तव्यों का पूरी निष्ठा से करूँगा निर्वहन”

इससे राज्य के लगभग 15 करोड़ लोगों को लाभ मिलेगा।’ वहीं यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (Deputy Chief Minister Keshav Prasad Maurya) ने भी इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि इस योजना के तहत सरकार 3270 करोड़ रुपये खर्च करेगी। सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘उत्तर प्रदेश में नवगठित सरकार का पहला निर्णय 15 करोड़ गरीब जनता-जनार्दन को समर्पित है। कोरोना काल (Corona period) में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने हर नागरिक को संबल प्रदान करने के उद्देश्य से अन्न योजना प्रारंभ की थी। अप्रैल 2020 से आज मार्च 2022 तक देश की 80 करोड़ जनता को इसका सीधा लाभ मिल रहा है।

योगी कैबिनेट में जगह नहीं मिली तो क्या हुआ, मैं फिर भी पार्टी के लिए निरंतर काम करता रहूँगा: पूर्व उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा

वहीं राज्य सरकार (State Government) ने केंद्र सरकार (Central government) के अतिरिक्त मुफ़्त राशन वितरण की योजना संचालित की है।’ सीएम योगी ने कहा कि मुफ़्त टेस्ट, ट्रीटमेंट और टीका के प्रयास से कोरोना पर काबू पाया गया तो महामारी से उपजने वाली भुखमरी की समस्या के निदान में मुफ़्त राशन की योजना बहुत उपयोगी रही है। अंत्योदय एवं पात्र गृहस्थी कार्ड धारक 15 करोड़ प्रदेशवासी डबल इंजन की सरकार में मुफ़्त राशन की डबल डोज़ प्राप्त कर रहे हैं।

इस योजना की अवधि मार्च 2022 में समाप्त हो रही थी, जिस पर विचार करते हुए नई सरकार की पहली कैबिनेट बैठक में इसे अगले तीन माह तक बढ़ाए जाने का फैसला किया गया है। राशन वितरण की पारदर्शी व्यवस्था पर जोर देते हुए उन्होंने बताया कि 80 हज़ार उचित दर की दुकानों पर ई-पॉश मशीनें लगी हैं, जिससे सही लाभार्थी तक राशन वितरण संभव हो रहा है।

यूपी में कोरोना काल के दौरान गरीबों को मुफ़्त राशन देने की योजना शुरू की गई थी, जिसे शुरुआत में नवंबर 2021 तक जारी रखना था। हालांकि यूपी के विधानसभा चुनावों (Assembly Elections) और कोरोना वायरस महामारी के कारण लोगों की आमदनी पर पड़े प्रभाव को देखते हुए योगी आदित्यनाथ की पिछली सरकार ने मार्च 2022 के अंत तक इस योजना को जारी रखने का ऐलान किया था।

यूपी विधानसभा चुनाव में बीजेपी (BJP) को मिली शानदार जीत के पीछे मुफ़्त राशन योजना का भी बड़ा हाथ माना जाता है। ऐसे में इसे आगे भी जारी रखने की पूरी संभावना जताई जा रही थी। इस योजना के तहत यूपी सरकार (UP government) ने राशन कार्ड धारकों को 35 किलो अनाज और पात्र गृहस्थी कार्ड धारकों को प्रति यूनिट तीन किलोग्राम गेहूँ और दो किलोग्राम चावल दिया जाता है। इसके अलावा एक लीटर खाने का तेल, एक किलो चना और नमक भी सरकार मुफ़्त देती है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.