ATI NEWS
पड़ताल हर खबर की ...

मायावती ने ट्वीट कर केंद्र सरकार पर बोला हमला, कहा सेना की भर्ती पर कोरोना से लगी रोक को समय रहते ध्यान दे सरकार

0

लखनऊ। यूपी विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) में मिली करारी शिकस्त के बाद बहुजन समाज पार्टी (BSP) की मुखिया मायावती (Mayawati) एक्शन मोड में दिखाई दे रही हैं। बसपा सुप्रीमो मायावती ने कोरोना (Corona) के बाद से सेना की भर्ती (army recruitment) पर लगी रोक को लेकर बीजेपी सरकार (BJP government) पर हमला किया है। मायावती ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल (official twitter handle) पर ट्वीट (tweet) किया और केंद्र सरकार (Central government) पर हमला करते हुए सभी पहलुओं पर समय रहते विचार करने को कहा।मायावती ने ट्वीट किया कि, “कोरोना के कारण सेना में भर्ती रैलियों के आयोजन पर पिछले दो साल से लगी हुई रोक अभी आगे लगातार जारी रहेगी।

UP विधानसभा में आज CM योगी व अखिलेश यादव की हुई मुलाकात, मुख्यमंत्री ने हाथ मिलाकर थपथपाई अखिलेश की पीठ

संसद में दी गई यह जानकारी निश्चय ही देश के नौजवानों, बेरोजगार परिवारों व खासकर सेना में भर्ती का जज़्बा रखने वाले परिश्रमी युवाओं के लिए अच्छी ख़बर नहीं है।” मायावती ने आगे लिखा कि, “मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, इसको लेकर सैन्य अफ़सर भी चिन्तित हैं, क्योंकि उनके अनुसार इस आर्मी रिक्रूटमेन्ट रैलियों पर अनवरत पाबन्दी का बुरा प्रभाव सेना की तैयारियों पर नीचे तक पड़ेगा। अब जबकि कोरोना के हालात नार्मल हैं, केन्द्र सरकार दोनों पहलुओं पर यथासमय पुनर्विचार करे।”

7 माह की मासूम के गले में फँसा गुब्बारे का टुकड़ा, दम घुटने से हुई बच्ची की मौत

इससे पहले रविवार को मायावती ने पार्टी कार्यालय में प्रदेश स्तरीय बैठक बुलाई थी। इस बैठक में यूपी (UP) में मिली हार को लेकर समीक्षा की गई। इसके साथ ही उन्होंने जिला और विधानसभा प्रभारी को छोड़कर सभी इकाइयों को भंग कर दिया और हर 3 मंडल पर एक जोन बनाया गया है। प्रदेश प्रभारी सीधे मायावती को रिपोर्ट करेंगे। बसपा अध्यक्ष मायावती ने भतीजे आकाश आनंद राष्ट्रीय कोआर्डिनेटर के साथ यूपी की बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है।

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) से पहले बहुजन समाज पार्टी के जनाधार को फिर से वापस लाने में जुटेंगे। यूपी विधानसभा चुनाव 2022 में बसपा प्रदेश की 403 विधानसभा सीटों में से सिर्फ एक सीट पर ही जीत दर्ज कर सकी है। इस शर्मनाक प्रदर्शन के बाद बसपा के वोटबैंक (Vote Bank) का एक बड़ा हिस्सा अन्य पार्टियों में शिफ़्ट हो चुका है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.