ATI NEWS
पड़ताल हर खबर की ...

यूपी में गर्मी दिखा रही अपने तीखे तेवर, 40°C तापमान में लोगों की हालत खस्ताहाल

0

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मौसम (UP Weather) में इन दिनों एक बड़ा बदलाव देखने को मिल रहा है। कई राज्‍यों में अधिकतम तापमान (temperature) बेहद तेजी से बढ़ा है। सूर्य की तपिश के साथ ही अब दिन में लू (Heat Wave) भी चलने लगी है। यूपी के मौसम विभाग (IMD) ने आशंका जताई है कि पश्चिमी यूपी (Western UP) के जिलों में तेजी से तपन बढ़ेगी। अभी तक इस इलाके के ज़्यादातर जिलों में तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के नीचे दर्ज किया जा रहा था, लेकिन, अगले दो-तीन दिनों में इसके 40 डिग्री के पार कर जाने की आशंका जाहिर की गयी है।

विधानसभा सदस्य के रूप में शपथ लेने के तुरंत बाद CM योगी से मिलने पहुँचे शिवपाल यादव, 20 मिनट तक चली बातचीत

मौसम विभाग (Weather department) के अनुमान के मुताबिक, पूर्वी यूपी में वैसी तपन अभी नहीं होगी जैसी पश्चिमी यूपी में देखने को मिल सकती है। फिलहाल, इस हफ़्ते तक बूँदाबाँदी की भी संभावना नहीं है। ऐसे में अप्रैल का पहला हफ़्ता यूपी में तेज गर्मी वाला ही होगा। तापमान की बात करें तो पश्चिमी यूपी के मुरादाबाद (Muradabad) में बुधवार को दिन का अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस, मेरठ (Meerut) में 38.6 डिग्री सेल्सियस, मुजफ़्फ़रनगर (Mujaffarnagar) में 36.8 डिग्री सेल्सियस और नजीबाबाद (Najibabad) में 36.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

गोरखपुर से BJP के सांसद रवि किशन शुक्ला के बड़े भाई का हुआ निधन, कैंसर की बीमारी से थे पीड़ित

हालांकि बुंदेलखंड (Bundelkhand) के कुछ जिलों में तापमान 42 डिग्री सेल्सियस भी दर्ज किया गया। आगरा (Agra), झाँसी (Jhansi), प्रयागराज (Prayagraj) और कानपुर (Kanpur) में बुधवार को दिन का अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस या इसके ऊपर ही दर्ज किया गया। मार्च के महीने में ही तापमान के कई शहरों में 42 डिग्री सेल्सियस पार कर जाना लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है।

हालांकि मौसम विभाग ने फिलहाल जो अनुमान जारी किया है उसके मुताबिक पूर्वी यूपी (Eastern UP) के जिलों को पश्चिमी यूपी के जिलों के मुकाबले थोड़ी राहत मिलती रहेगी। इससे पहले मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता ने न्यूज़ 18 से बातचीत में बताया कि दिन का तापमान 38-39 डिग्री के बीच रहेगा, जबकि शाम को पारा लुढ़ककर 20 डिग्री तक पहुँच सकता है। गुप्ता के मुताबिक, पश्चिमी विक्षोभ (WT) के कारण कुछ पहाड़ी क्षेत्र में बारिश और हिमपात (Snowfall) की वजह से मार्च के महीने में गर्मी (Heat) बढ़ जाती है और तेज हवाएँ चलने लगती हैं। मौसम विभाग के निदेशक ने बताया कि गर्मी थोड़ी बढ़ सकती है, लेकिन बारिश (rain) की संभावना नहीं है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.