ATI NEWS
पड़ताल हर खबर की ...

मुख़्तार अंसारी के बेटों पर है योगी सरकार की पैनी नज़र, ED जारी करेगा नोटिस

0

प्रयागराज। बाँदा जेल (Banda jail) में बंद माफ़िया मुख़्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) के बेटों पर अब योगी सरकार (Yogi Government) की निगाहें टेढ़ी हो गई हैं। प्रवर्तन निदेशालय (ED) मुख़्तार के दोनों बेटों अब्बास अंसारी (Abbas Ansari) और उमर अंसारी (Umar Ansari) के खिलाफ नोटिस जारी करेगा। ईडी अंसारी बंधुओं को बुलाकर उनके बैंक खातों (bank accounts), ट्रांज़ैक्शन (transaction), संपत्तियों का ब्यौरा और आय के स्रोत (source of income) के बारे में पूछताछ (inquiry) होगी।

पेपर लीक मामले में गिरफ़्तार DIOS ब्रजेश मिश्रा की संपत्ति का हुआ खुलासा, करोड़ों का निकला मालिक

दरअसल मुख़्तार की बीवी आफ़सा, साले अतीक रज़ा (Ateek Raza) और अनवार के नाम से एक विकास कंस्ट्रक्शन कंपनी बनाई गई है। आरोप है कि कंपनी की आड़ में मऊ (Mau) और गाजीपुर (Ghazipur) में नियम विरुद्ध कार्य किये गए हैं। आरोप है कि विकास कंस्ट्रक्शन कंपनी स्वरा मऊ में ग्राम पंचायत की ज़मीन पर कोल्ड स्टोरेज (cold storage) बनवाया गया है।

इस कोल्ड स्टोर को एफ़सीआई (FCI) को किराये पर दिया गया है, जिसके ज़रिए भारत सरकार (Indian government) को करोड़ों का चूना लगाया गया है। इस मामले में पुलिस (police) ने बीते साल एफआईआर (FIR) दर्ज की थी। इसी केस के आधार पर ईडी ने बीते साल मनी लॉन्ड्रिंग (money laundering) का केस दर्ज किया था। ईडी की जाँच में पता चला था कि विकास कंस्ट्रक्शन के नाम पर आने वाली कुछ रकम अब्बास और उमर के बैंक खातों में ट्रांसफर हुई थी।

विधानसभा सदस्य के रूप में शपथ लेने के तुरंत बाद CM योगी से मिलने पहुँचे शिवपाल यादव, 20 मिनट तक चली बातचीत

दोनों भाइयों के पास मऊ और गाजीपुर में चल-अचल संपत्ति है। अब्बास और उमर से पूछताछ के बाद उनके सहयोगियों और कंपनी के लोगों से भी पूछताछ होगी। उधर माफ़िया मुख़्तार अंसारी की लखनऊ (Lucknow) के सत्र न्यायालय (sessions court) में पेशी की खबर जेल से लीक होने की भी जाँच होगी। डीआईजी जेल प्रयागराज संजीव त्रिपाठी को यह जाँच सौंपी गई है।

7 दिनों के अंदर जाँच पूरी कर रिपोर्ट डीआईजी जेल संजीव त्रिपाठी सौपेंगे। डीजी जेल आनंद कुमार के मुताबिक, मीडिया में खबर आई थी कि पेशी की ख़बर जेल से लीक हुई। दरअसल, मुख़्तार अंसारी को सोमवार को एक मामले में पेशी पर लखनऊ लाया गया था। मुख्तार अंसारी के बेटे विधायक अब्बास अंसारी ने इस बारे में ट्वीट (tweet) किया था और अचानक बाँदा से लखनऊ ले जाने पर सवाल उठाए थे। कुछ मीडिया (media) माध्यमों से जेल से ख़बर लीक होने की बात भी सामने आई थी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.