ATI NEWS
पड़ताल हर खबर की ...

58 वर्षीय ओमवती ने अपनी सूझबूझ व बहादुरी से ट्रेन में बैठे हज़ारों लोगों की बचाई जान, लोगों ने की सराहना

0

एटा। 58 वर्षीय ओमवती ने गुरुवार सुबह 09 बजे एटा-टूंडला पैसेंजर ट्रेन (Etah-Tundla Passenger Train) को हादसे (accident) का शिकार होने से बचा लिया। ओमवती ने समझदारी और सूझबूझ का परिचय देते हुए गजब की तरकीब लगाई। जिसे देख चालक ने ब्रेक लगाकर ट्रेन (train) को रोक दिया, इस वजह से बड़ा हादसा होने से बच गया है। तो वहीं, अब महिला के साहस और सूझबूझ की सभी लोग सराहना कर रहे हैं।

यह घटना 31 मार्च की है। बता दें कि एटा जिले के कुसबा रेलवे स्टेशन के पास गाँव नगला गुलरिया की रहने वाली ओमवती (58) अपने खेत पर काम करने के लिए जा रही थी। जब वे रेल पटरी (rail track) पार कर रहीं थीं, तभी उन्हें पटरी टूटी दिखाई दी। लेकिन, ओमवती के पास इतना समय नहीं था कि वे रेलवे के किसी अधिकारी को इसकी सूचना दे सके। क्योंकि कुछ ही मिनट में उस पटरी से ट्रेन गुजरने वाली थी। सामने से आ रही ट्रेन को देख वे घबराईं नहीं, बल्कि पटरी के बीचोंबीच जाकर खड़ी हो गईं।

Lucy को खोजा तो मिलेगा 10 हज़ार का इनाम, बिल्ली की तलाश में परेशान परिजनों ने दो दिन से नहीं खाया खाना

ओमवती ने समझदारी दिखाई और अपनी लाल रंग की साड़ी उतारकर लकड़ियों के सहारे ट्रैक पर बाँध दी और ट्रेन चालक को खतरे का इशारा किया। चालक समझ गया कि कुछ गड़बड़ है, जिसके बाद उसने ब्रेक लगाकर ट्रेन रोक दी। बाद में रेलवे अधिकारियों (railway officers) को सूचना दी गई। जिसके बाद रेलवे कर्मचारियों को भेजकर पटरी को सही कराने का काम शुरू कराया गया। इस दौरान करीब आधा घंटा ट्रेन खड़ी रही। मीडिया रिपोर्ट्स (media reports) के मुताबिक, ओमवती (Omwati) के इस काम से ट्रेन चालक तारा सिंह काफी खुश हुए और उन्हें 100 रुपये का ईनाम भी दिया।

तो वहीं, ओमवती का कहना था कि मुझे अच्छी तरह पता था कि लाल झंडी खतरे का निशान होती है और गाँव में भी सुनते रहे हैं कि लाल झंडी दिखाने से खतरा भाँपकर ट्रेन रुक जाती है। अच्छी बात यह थी कि मैं लाल साड़ी पहने हुए थी और मैंने वही किया जो मुझे सही लगा। इस घटना के बारे में जलेसर सिटी रेलवे स्टेशन (Jalesar city railway station) अधीक्षक एसएस मीना का कहना है कि एटा-बरहन रेल खंड पर पिछले छह महीनों से पटरी बदलने का काम चल रहा है।

सभी विधायकों व अधिकारियों को 1-1 प्राइमरी स्कूलों को लेना होगा गोद: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिया आदेश

फिलहाल कुसवा रेलवे स्टेशन के नजदीक पटरी बदली जा रही है। इसके चलते हर रोज सुबह सुबह सवा नौ बजे से दोपहर सवा बारह बजे तक यह रेल लाइन ब्लॉक रहती है, हो सकता है यहाँ कोई काम रह गया हो इस वजह से ये पटरी नहीं जुड़ी। हालांकि मामले की जाँच (investigation) की जाएगी। बता दें कि इस खबर के सामने आने के बाद सोशल मीडिया (social media) पर लोग ओमवती की जमकर तारीफ कर रहे हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.