ATI NEWS
पड़ताल हर खबर की ...

खुशखबरी: यूपी में जल्द बनेंगे 14 नए मेडिकल कॉलेज, CM योगी आदित्यनाथ ने किया बड़ा ऐलान

0

लखनऊ। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कहा है कि राज्य जल्द ही 14 नए मेडिकल कॉलेजों (medical colleges) से लैस होगा। प्रदेश में 2017 से पहले सिर्फ 12 मेडिकल कॉलेज थे, लेकिन अब जल्द ही हर जिले में एक मेडिकल कॉलेज होगा। सीएम ने शनिवार को एक कार्यक्रम में कहा, उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने पिछले 5 सालों में स्वास्थ्य इंफ्रास्ट्रक्चर (health infrastructure) के विकास में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी।

यह इसी का परिणाम रहा की पुराने काल में उत्तर प्रदेश की जनता को स्वास्थ्य विभाग (health department) में कोई कमी नहीं महसूस हुई। योगी सरकार (Yogi Government) द्वारा स्वास्थ्य क्षेत्र में लिए गए बड़े फैसलों से प्रदेशवासियों को बड़ी सौगात मिलेगी। साल 2022 में प्रदेश के 75 जिलों में बीएसएल टू आरटीपीसीआर लैब, सीटी स्कैन यूनिट, डायलिसिस यूनिट के संचालन संग साल 2022-2023 तक 14 नए मेडिकल कॉलेजों से यूपी लैस होगा।

CM योगी के साथ नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने किया काशी के कोतवाल बाबा कालभैरव का दर्शन

वहीं, 16 पीपीपी मॉडल (PPP model), दो एम्‍स (AIIMS), एक बीएचयू (BHU), एक एएमयू (AMU) के अलावा 30 प्राइवेट मेडिकल कॉलेज से प्रदेश की चिकित्‍सीय सेवाओं में पंख लग रहे हैं। नए साल में प्रदेश को नए मेडिकल कॉलेज की सौगात मिलने से एक ओर प्रदेश के अस्पतालों में रेफ़रल केसों (referred cases) में कमी आएगी तो वहीं दूसरे जनपदों के मरीजों को बड़े अस्‍पतालों के चक्‍कर नहीं लगाने पड़ेंगे। पिछली सरकारों के मुकाबले योगी सरकार का कार्यकाल स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं के लिए स्‍वर्णिम युग लेकर आई है।

फ्रूट ड्रिंक पीने वाले हो जाएँ सावधान, बस अड्डे पर कानपुर पुलिस के हाथ लगी 3600 एक्सपायरी फ्रूट ड्रिंक्स की बोतलें

24 करोड़ की आबादी वाले प्रदेश में साल 2017 से पहले जहाँ महज 12 मेडिकल कॉलेज थे वहीं योगी सरकार द्वारा सत्ता की कमान संभालने के बाद यूपी (UP) में तेजी से चिकित्‍सीय सुविधाओं में विस्‍तार किया गया। प्रदेश सरकार ‘वन डिस्ट्रिक वन मेडिकल कॉलेज’ के साथ प्रत्येक जनपद को चिकित्‍सीय सुविधाओं से लैस करने में जुटी है।

साल 2022-2023 तक प्रदेश में लैब (lab), सीएचसी पीएचसी (CHC PHC) का कायाकल्‍प हो जाएगा। गौरतलब है कि 14 जिलों में मेडिकल कॉलेजों की स्थापना के लिए शिलान्यास की प्रक्रिया जारी है। जिसमें सुल्तानपुर (Sultanpur), सोनभद्र (Sonbhadra), चंदौली (Chandauli), बुलंदशहर (Bulandshahar), पीलीभीत (Pilibheet), औरैया (Auraiyya), बिजनौर (Bijnaur), कानपुर देहात (Kanpur Dehat), कुशीनगर (Kushinagar), गोंडा (Gonda), कौशांबी (Kaushambi), ललितपुर (Lalitpur), लखीमपुर खीरी (Lakhimpur khiri) और अमेठी (Amethi) जिले हैं।

इन जिलों में साल 2022-2023 तक मेडिकल कॉलेज बनकर तैयार हो जाएँगे। इसके साथ पीपीपी मोड पर बनने वाले 16 मेडिकल कॉलेज के तहत पहले चरण में प्रदेश सरकार (State Government) ने दो जिलों के लिए दो निजी भागीदारों को मंजूरी दी है। प्रदेश के महराजगंज (Maharajganj) और सम्भल (Sambhal) जिले में निजी भागीदार में न्यूनतम 100 सीटों वाला मेडिकल कॉलेज का निर्माण किया जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.