ATI NEWS
पड़ताल हर खबर की ...

नैनी सेंट्रल जेल में बंद 516 कैदियों ने रखा नवरात्रि का व्रत तो वहीं 450 ने रखा रोज़ा, अधिकारियों ने की खास व्यवस्था

0

प्रयागराज। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के प्रयागराज (Prayagraj) के पास स्थित नैनी सेंट्रल जेल (Naini Central Jail) में बंद महिलाओं सहित कुल 516 कैदी (prisoner) नवरात्रि (Navratri) में नौ दिन का उपवास (Fasting) रख रहे हैं। वहीं करीब 450 कैदी रमज़ान (Ramzan) के रोज़े (Roza) रख रहे हैं। जेल अधिकारियों ने इनके लिए खास इंतज़ामात भी किए हैं।

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया (Times of India) की रिपोर्ट के मुताबिक, जेल अधिकारियों (prison officers) ने बताया कि चैत्र नवरात्रि (Chaitra Navratri) के पहले दिन कुल 1,532 कैदियों ने उपवास रखा और नवरात्रि के आठवें दिन भी इतने ही कैदियों के उपवास रखने की उम्मीद है। वहीं इन 1,532 कैदियों में से 516 कैदी नवरात्रि के तमाम धार्मिक अनुष्ठानों का पालन करते हुए पूरे नौ दिनों का उपवास रख रहे हैं।

भारी बारिश व बाढ़ से खराब हुई फसलों का योगी सरकार ने किसानों को दिया मुआवज़ा, 16.26 लाख 26 किसानों को मिली राहत

अखबार के मुताबिक, नैनी सेंट्रल जेल के वरिष्ठ जेल अधीक्षक पीएन पांडे ने बताया, ‘नवरात्रि के पहले दिन कुल 1,532 कैदियों ने उपवास रखा था और अष्टमी के दिन भी इतने ही लोगों के उपवास रखने की उम्मीद है। इन 1,532 कैदियों में से 516 कैदी पूरे नौ दिन के उपवास पर हैं।’ पांडे ने बताया कि नवरात्रि का व्रत रखने वाले हर एक कैदी को आधा किलो आलू, तीन केले, 250 ग्राम दूध और 100 ग्राम चीनी दी जा रही है।

वहीं रमज़ान के रोज़े रखने वाले कैदियों को भी शाम के वक्त अतिरिक्त आहार दिया जा रहा है, जिसमें 200 ग्राम दूध, तीन केले, 30 ग्राम खजूर, नींबू, पाव रोटी और बिस्कुट आदि शामिल हैं। वरिष्ठ जेल अधिक्षक पांडे ने साथ ही दावा किया कि अधिकारियों ने व्रतियों के लिए खास व्यवस्था की है और उपवास रख रहे कैदियों को दूध, फल जैसे सभी आवश्यक खाद्य पदार्थ उपलब्ध कराए जा रहे हैं।

शर्मनाक: ठेले पर 4 Km तक बीमार पत्नी को लेकर ढोता रहा बुज़ुर्ग, अस्पताल पहुँचने में देरी होने के कारण नहीं बची जान

उन्होंने बताया कि नवरात्रि का व्रत रख रहे कैदी अपने बैरक (barracks) के साथ-साथ जेल परिसर में भजन-कीर्तन और अन्य अनुष्ठानों में भी भाग लेते हैं। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि व्रत रख रहे कैदी सुबह जल्दी उठते हैं, स्नान करते हैं और पूजा-पाठ करते हैं। जेल अधिकारियों ने इसके साथ ही बताया कि इस साल रोज़ा रखने वाले कैदियों की भी संख्या पिछले वर्षों के मुकाबले अधिक है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.