ATI NEWS
पड़ताल हर खबर की ...

गेहूँ खरीद का लक्ष्य समय पर नहीं हुआ निर्धारित तो DM ने SDM समेत कई अफ़सरों का रोका वेतन

0

यूपी। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के हापुड़ (Hapur) में गेहूँ खरीद (Wheat Procurement) का लक्ष्य निर्धारित समय में पूरा नहीं होने पर जिलाधिकारी (DM) ने SDM समेत कई अफ़सरों का वेतन (salary) रोक दिया है। जिलाधिकारी ने इस आशय का आदेश (order of intent) भी निकाला है। हापुड़ में सरकारी गेहूँ क्रय केंद्र (Government Wheat Purchase Center) पर 1 अप्रैल से ही गेहूँ की खरीद शुरू हो गई थी लेकिन 50 दिनों बाद भी निर्धारित लक्ष्य से केवल 2 प्रतिशत ही गेहूँ खरीद हो सकी।

राज ठाकरे का अयोध्या दौरा हुआ रद्द, उनके आगमन पर संतों व BJP सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने किया विरोध

इससे खिन्न होकर हापुड़ की डीएम मेधा रूपम ने एसडीएम, बीडीओ (BDO) समेत कई अधिकारियों के वेतन पर रोक लगा दी है। डीएम के हस्ताक्षर से 14 मई, 2022 को जारी आदेश में कहा गया है कि शासन (Governance) द्वारा जनपद हापुड़ में 36 हज़ार मीट्रिक टन गेहूँ की खरीद का लक्ष्य निर्धारित किया गया है लेकिन सापेक्ष लक्ष्य में अभी तक इन केंद्रों पर केवल 655.84 मीट्रिक टन ही गेहूँ की खरीद हो पाई है जो लक्ष्य से काफी कम है।

सपा नेता आज़म खाँ होंगे आज सीतापुर जेल से रिहा, उन्हें लेने पहुँचे बेटे अब्दुल्लाह आज़म और शिवपाल यादव

इसलिए गेहूँ खरीद हेतु लक्ष्य की शत-प्रतिशत पूर्ति होने तक आपका वेतन अग्रिम आदेशों तक रोका जाता है। चिट्ठी की कॉपी उच्च अधिकारियों को भी भेजी गई है। हापुड़ में किसानों से गेहूँ खरीद के लिए 29 सरकारी गेहूँ क्रय केंद्र बनाए गए थे लेकिन वो नाकाफी साबित हुए। हापुड़ डीएम ने लक्ष्य से कम गेहूँ खरीद पर जिले (district) के समस्त उप जिलाधिकारी, समस्त खंड विकास अधिकारी (All Block Development Officer), जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी (District Food and Marketing Officer) समेत कई अफ़सरों का अग्रिम आदेशों तक वेतन रोकने के आदेश जारी किए हैं। अब देखना होगा कि वेतन रोके जाने से सरकारी गेहूँ क्रय केंद्रों पर गेहूँ की खरीद कितनी बढ़ती है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.