ATI NEWS
पड़ताल हर खबर की ...

UP में BJP मुलायम सिंह की छोटी बहू अपर्णा यादव को दे सकती है MLC का टिकट

0

लखनऊ। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में 13 विधान परिषद सीटों (legislative council seats) पर होने वाले चुनाव को लेकर बीजेपी (BJP) ने कमर कस ली है। इसी कड़ी में बीजेपी अब समाजवादी पार्टी (Samajwadi party) के संरक्षक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) की छोटी बहू और भाजपा नेता अपर्णा बिष्ट यादव (Aparna Bisht Yadav) को एमएलसी (MLC) का टिकट दे सकती है। बता दें कि बीजेपी 9 सीटों पर एमएलसी के प्रत्याशी उतारेगी।

PM मोदी ने किया वित्त व कॉर्पोरेट कार्य मंत्रालयों के आइकॉनिक वीक समारोह का उद्घाटन

सूत्रों के मुताबिक, बीजेपी के एमएलसी प्रत्याशियों की सूची 7 जून तक आ जानी चाहिए। पार्टी से जुड़े सूत्र बताते हैं कि 7 सीटों पर नाम फाइनल हो गया है। ये सभी योगी सरकार (Yogi government ministers) के मंत्री हैं। वहीं, दो नामों के लिए अपर्णा यादव, अश्वनी त्यागी (Ashwani Tyagi), अमरपाल मौर्य (Amarpal Maurya), मोहित बेनीवाल (Mohit Beniwal), संगीत सोम (Sangeet Som) और सुरेश राणा (Suresh Rana) पर मंथन किया गया है।

ज्ञानवापी जाने से रोकने के लिए पुलिस ने अविमुक्तेश्वरानंद के केदारघाट स्थित मठ को पुलिस ने घेरा, त्यागा अन्न-जल

योगी सरकार में 7 मंत्रियों का एमएलसी बनना तय माना जा रहा है, जिसमें भूपेंद्र चौधरी (Bhupendra Chaudhary), जेपीएस राठौर (JPS Rathore), केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya), नरेंद्र कश्यप (Narendra Kashyap), दानिश आज़ाद (Danish Azad) और जसवंत सैनी (Jaswant Saini) का नाम शमिल है। ठाकुर समाज (Thakur Samaj) से आने वाले जेपीएस राठौर का परिषद जाना तय है। दरअसल, बीजेपी की नज़र 2024 में होने जा रहे लोकसभा चुनाव (Loksabha elections) पर भी है।

इसी के मद्देनजर जातिगत (casteist) और सियासी समीकरणों (political equations) पर भी पार्टी निशाना साधने की कवायद में लगी है। पार्टी इसको लेकर मंथन भी कर चुकी है। कुछ ही दिन पहले मुख्यमंत्री आवास पर ही कोर कमेटी (core committee) की बैठक हुई थी। जिसमें नामों पर अंतिम मुहर लग चुकी है। सिर्फ औपचारिक ऐलान बाकी है। विधान परिषद में विधानसभा क्षेत्र कोटे की 13 सीटों पर चुनाव हो रहा है। इसमें सपा (SAPA) को 4 और भाजपा को 9 सीटें मिलनी तय हैं। वहीं मनोनीत कोटे की छह सीटों पर भाजपा के कार्यकर्ताओं को मौका मिलेगा। दो सीटों के उपचुनाव (by-election) में भी भाजपा की जीत लगभग तय है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.