ATI NEWS
पड़ताल हर खबर की ...

सोशल मीडिया पर हेट स्पीच करने वाले नफरतियों पर है यूपी पुलिस की नज़र, होगी सख़्त कार्रवाई

0

नई ‌दिल्ली। व्हाट्सऐप यूनिवर्सिटी (Whatsapp University) समाज (society) का बहुत नुकसान कर रही है, यह बात यूपी पुलिस (UP Police) मान रही है।‌इसी के चलते उत्तर प्रदेश पुलिस सोशल मीडिया (Social Media) पर हेट स्पीच (Hate Speech) करने वाले नफरतियों (haters) को खोज रही है। ये नफरती कौन हैं और पुलिस इन पर क्या कार्रवाई (action) कर रही है..? एनडीटीवी (NDTV) ने गाज़ियाबाद (Ghaziabad) और नोएडा (Noida) में इसका जायज़ा लिया।

गौतमबुद्ध नगर (Gautam Buddha Nagar) के पुलिस कमिश्नर (police commissioner) आलोक सिंह कहते हैं कि ”इस व्हाट्सऐप यूनिवर्सिटी ने आज समाज का बहुत बड़ा नुकसान किया है।” वे हिन्दू-मुस्लिम धर्मगुरुओं (Hindu Muslim religious leaders) के सामने ये मान रहे हैं कि व्हाट्सऐप यूनिवर्सिटी पर चल रही झूठी धार्मिक बातें पुलिस के लिए बड़ा सिरदर्दी साबित हो रही हैं। धर्म की बातें धर्म गुरुओं से करनी चाहिए न कि व्हाट्सऐप यूनिवर्सिटी से लेना चाहिए।‌

यूपी वासियों को मौसम विभाग ने दी राहत देने वाली ख़बर, अगले‌ 24 घंटे के अंदर प्रदेश के कई हिस्सों में होगी भारी बरसात

लेकिन ये सोशल मीडिया के नफरती हैं कौन..? गाज़ियाबाद में हिंदुओं (Hindus) के स्वयंभू रक्षक दल (self-styled protectors) की मुखिया पिंकी चौधरी हैं। उनके पास 50 से 60 युवाओं की फौज है जिसके ज़रिए वे JNU में मारपीट करने से लेकर सोशल मीडिया पर मुसलमानों (muslims) के ख़िलाफ़ जहर फैलाने तक का काम कथित तौर पर करते हैं। नूपूर शर्मा (Nupur Sharma) के विवादित बयान (controversial statement) के बाद उनके खास सहयोगी अन्नू चौधरी को हेट स्पीच देने के मामले में जेल (Jail) भेज दिया गया।

पिंकी चौधरी इसका विरोध करने के लिए कलेक्ट्रेट (collectorate) पहुँच गए। पिंकी चौधरी से सवाल करने पर कि अन्नू चौधरी ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट डाली थी..? जवाब मिला – ”हाँ तो क्या हुआ..? अन्नू चौधरी ने नूपूर शर्मा के समर्थन में पोस्ट डाली थी। लाखों लोगों ने डाली थी, तो क्या सबको जेल भेजोगे..?” क्या आप समाज में नफरत नहीं फैला रहे हैं..? इस सवाल पर पिंकी ने कहा ”मैं चाहता हूँ नफरत फैले, इस्लाम (Islam) की सच्चाई सबके सामने आए‌।” हिन्दू रक्षक दल के नाम से पिंकी चौधरी कई साल से मुसलमानों के खिलाफ जहर उगलते आए हैं। यहीं से करीब 20 किमी दूर ट्रोनिका सिटी (tronica city) में कबाड़ का काम करने वाले फुरकान कबाड़ी नाम के एक नौजवान टिकटॉकर (tik tokers) को भी जेल भेजा गया है। वह नूपुर शर्मा को जान से मारने की धमकी दे रहा था।

सीएम योगी के लिए एक मुस्लिम युवक ने दिखाई दीवानगी, सीने पर गुदवाया टैटू और कही चौंका देने वाली बात

नूपुर शर्मा के बयान के बाद गाज़ियाबाद पुलिस ने बीते चार दिनों में 32 सोशल मीडिया एकाउंट बंद काराए, जबकि अन्नू चौधरी और फुरकान कबाड़ी जैसे 13 नफरतियों को जेल भेजा गया है। गाज़ियाबाद के एसएसपी मुनीराज (SSP Muniraj) ने कहा कि ”हमारी साइबर सेल (cyber cell) लगातार मॉनिटर (monitor) कर रही है। हेट स्पीच वालों के एकाउंट बंद करवाए जा रहे हैं और हैबिचुअल हेट स्पीच वालों को जेल भेजा जा रहा है।” फिलहाल पुलिस सोशल मीडिया पर एक दूसरे धर्म के खिलाफ नफरत फैलाने वालों की सख्ती से खोजबीन कर रही है। पहले पुलिस अपराधियों से लाठी, डंडे और बंदूक के दम पर निपटती थी लेकिन सोशल मीडिया के ज़रिए नफरती नाम के अलग किस्म के अपराधियों का गैंग (gang of criminals) सक्रिय है और इन नफरतियों से निपटने के लिए पुलिस को जहाँ नए तौर-तरीके अपनाने पड़ेंगे वहीं हमें भी इनसे बचे रहना है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.