ATI NEWS
पड़ताल हर खबर की ...

IAS रामविलास यादव पर रिटायरमेंट से पहले गिरफ्तारी की लटकी तलवार….

0

देहरादून: हाल ही के दिनों में विजिलेंस ने उनके ठिकानों पर छापा मारा था। देहरादून लखनऊ गाजीपुर के साथ कुल 4 स्थानों पर बड़े छापेमारी की कार्रवाई की थी। जिसमें आय से अधिक संपत्ति के मामले में कई दस्तावेज भी बरामद हुए थे। सूत्रों का कहना है कि देहरादून मे आय से अधिक संपत्तियों के कागज बरामद हुए हैं। जिसमें फ्लैट के कागज भी शामिल हैं।

मुसलमानों को डराने के लिए किया जा रहा बुलडोजर का इस्तेमाल,शफीकुर्र रहमान बर्क का विवादित बयान….

हाईकोर्ट में गिरफ्तारी पर रोक लगाने के लिए याचिका दायर की है, लेकिन विजिलेंस परत दर परत तहकीकात कर रही है, जिससे उनके काले कारनामों का बड़ा खुलासा हो सकता है। 11 जून को विजिलेंस की टीम ने देहरादून, लखनऊ, गाजीपुर के साथ उनके ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की कार्रवाई भी की थी। मगर जिस तरह से कागजात बरामद हुए हैं। उसके आधार पर अब जांच और आगे बढ़ रही है।

यूपी सरकार का SC में जवाब….

गिरफ्तारी से बचने के लिए रामविलास यादव ने नया कोर्ट में याचिका दायर की है। आपको बता दें कि इसी साल अप्रैल के महीने में विजिलेंस ने उनके खिलाफ आय से अधिक संपत्ति के मामले में एक एफ आई आर दर्ज की थी। जिसके तहत जांच चल रही है। शासन ने उनके खिलाफ पहले ओपन जांच कराई थी। जिसमें आय से अधिक संपत्ति का खुलासा हुआ था।

आजमगढ़ के लिए मैं अकेले काफी हूं अखिलेश की जरूरत नहीं….

जिसके आधार पर उनके खिलाफ विजिलेंस ने काम करना शुरू किया है। आईएएस रामविलास यादव उत्तराखंड शासन में अपर सचिव समाज कल्याण के पद पर कार्यरत हैं, 30 जून को रिटायर होने वाले हैं। मगर रिटायरमेंट के पहले गिरफ्तारी की तलवार लटकती नजर आ रही है क्योंकि जिस तरह से विजिलेंस परत दर परत उनके काले कारनामों की तहकीकात कर रही है।

PM मोदी ने मैसूर में तो योगी ने राजभवन में लगाए आसन….

Leave A Reply

Your email address will not be published.