ATI NEWS
पड़ताल हर खबर की ...

NDA उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को लेकर मायावती का बड़ा फैसला, राष्ट्रपति चुनाव में मुर्मू का पूर्ण समर्थन करेगी बसपा….

0

उत्तर प्रदेश। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) को लेकर यूपी (UP) की पूर्व सीएम मायावती (Mayawati) ने बड़ा फैसला किया है। राष्ट्रपति चुनाव (presidential election) में बहुजन समाज पार्टी (Bahujan Samaj Party) द्रौपदी मुर्मू का समर्थन करेगी। लखनऊ (Lucknow) में मायावती ने आज ऐलान किया कि बसपा (BSP) इस चुनाव में द्रौपदी मुर्मू को समर्थन देगी। उन्होंने ये भी कहा कि ये फैसला हमने अपनी पार्टी और आंदोलन (agitation) को ध्यान में रखते हुए लिया है।

UPSC मेन्स के लिए फ्री कोचिंग कराएगी योगी सरकार , ऐसे करें आवेदन

ये फैसला ना ही बीजेपी (BJP) और एनडीए (NDA)के पक्ष में है और ना ही विपक्ष के विरोध में है। गौरतलब है कि एनडीए कैंडिडेट द्रौपदी मुर्मू आदिवासी समुदाय (aboriginal) से हैं। ऐसे में बसपा के सामने ये बड़े असमंजस की बात थी कि वह विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा (Yashwant Sinha) का समर्थन करे या एनडीए के उम्मीदवार का। द्रौपदी मुर्मू झारखंड की पूर्व राज्यपाल (former governor of Jharkhand) हैं और वह देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद के लिए चुनाव लड़ने वाली पहली आदिवासी नेत्री होंगी। देश की पहली आदिवासी महिला राज्यपाल होने का कीर्तिमान उनके नाम पर पहले ही दर्ज है।

पढ़ाई के लिए मां ने डांटा तो 8 साल के बच्चे ने फांसी लगाकर दी जान….

झारखंड में राज्यपाल के तौर पर कुल 6 साल एक माह 18 दिन का उनका कार्यकाल निर्विवाद तो रहा ही, राज्य के प्रथम नागरिक और विश्वविद्यालयों की कुलाधिपति (chancellor) के रूप में उनकी पारी यादगार रही है। कार्यकाल पूरा होने के बाद वह 12 जुलाई 2021 को झारखंड से राजभवन से उड़ीसा (Orissa)के रायरंगपुर स्थित अपने गांव के लिए रवाना हुई थीं और इन दिनों वहीं प्रवास कर रही हैं। विपक्षी दलों के बीच राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार के तौर पर झारखंड के हजारीबाग निवासी कद्दावर नेता यशवंत सिन्हा के नाम पर सहमति बनी है।

मुख्तार बाबा पर मंदिरों को कब्जाने का आरोप….

अब सत्ताधारी एनडीए की ओर से झारखंड की पूर्व राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू उम्मीदवार बनाई गई हैं तो यह भी एक अनूठा संयोग ही माना जाएगा। यशवंत सिन्हा के बाद चचार्ओं में द्रौपदी मुर्मू का नाम सामने आने से झारखंड के सियासी हलकों में भी कौतूहल और उत्साह का माहौल है। राष्ट्रपति पद के लिए नामांकन की आखिरी तारीख 29 जून है। देश के नए राष्ट्रपति के लिए 18 जुलाई को चुनाव होना है और वोटों की गिनती 21 जुलाई को होगी। चुनाव में मुकाबला एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू और विपक्षी दलों (opposition parties) के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा के बीच होना है।

राष्ट्रपति चुनाव में यूपी की है अहम भूमिका,समझिए वोटों का गणित….

Leave A Reply

Your email address will not be published.