ATI NEWS
पड़ताल हर खबर की ...

21 जुलाई के बाद होगी बारिश, प्रवेश करेंगी बंगाल की खाड़ी से मानसूनी हवा….

0

हिसार। अभी तक अरब सागर की तरफ से मानसूनी हवाएं आने से प्रदेश में वर्षा हो रही थी। मगर बंगाल की खाड़ी की तरफ से आने वाली हवाओं में गतिरोध था। मगर जल्द ही इन मानसूनी हवाओं का रास्ता भी साफ हो जाएगा।मौसम विज्ञानियों की मानें तो बंगाल की खाड़ी से आने वाली मानसूनी हवाएं प्रदेश तक नहीं पहुंच पा रही थीं। मगर 21 जुलाई के बाद इन हवाओं के लिए रास्ता साफ हो जाएगा। जिससे यह प्रदेश में अच्छी वर्षा कर सकेंगी।

पड़ोसन को पैसे ट्रांसफर करने पर लिव-इन पार्टनर ने ली प्रेमिका की जान….

चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के कृषि मौसम विज्ञान विभाग के अध्यक्ष डा. मदन खिचड़ ने बताया कि मानसून टर्फ अब सौराष्ट्र, दिसा, रायसेन, अंबिकापुर, उड़ीसा होते हुए बंगाल की खाड़ी तक बना हुआ है।अरब सागर की ओर से नमी वाली हवाओं में भी अगले दो तीन दिनों में कुछ कमी आने की संभावना है जिस से हरियाणा राज्य में 18 से 20 जुलाई के दौरान मौसम आमतौर पर परिवर्तनशील रहने की संभावना है। इस दौरान उत्तर हरियाणा में कहीं-कहीं हल्की वर्षा मगर पश्चिम एवं दक्षिण हरियाणा में कुछ एक स्थानों पर छिटपुट वर्षा की संभावना है।

शादी से पहले लगा धर्म परिवर्तन कराने का आरोप, दोनों 10वीं में करते हैं पढ़ाई….

इसके साथ ही 21 जुलाई से बंगाल की खाड़ी से मानसूनी हवाएं सक्रिय होने से राज्य में 21 जुलाई रात्रि से वर्षा का दौर फिर से शुरू हो जाने की संभावना बन रही है।जबकि सामान्य वर्षा 438.6 वर्षा थी। इस सीजन में सामान्य से 30 प्रतिशत अधिक वर्षा दर्ज की गई। इसके साथ ही मौजूदा सीजन में जुलाई और अगस्त का समय बाकी है। ऐसे में इस बार प्रदेश को अच्छी वर्षा मिलने की उम्मीद है। हाल ही में जो वर्षा हुई उसका एक कारण अरब सागर से नमी वाली मानसूनी हवाओं के प्रभाव से वर्षा हुई। जिससे वातावरण में नमी की अधिकता से उत्तर पश्चिमी एवं दक्षिण क्षेत्रों में 13 जुलाई से 17 जुलाई के दौरान ज्यादातर स्थानों पर वर्षा दर्ज की गई।

OP Rajbhar ‘साइकिल’ छोड़ करेंगे ‘हाथी’ की सवारी?

Leave A Reply

Your email address will not be published.