ATI NEWS
पड़ताल हर खबर की ...

बुंदेलखंड, यमुना एक्सप्रेसवे जैसी सड़कों का बुना जाल….

0

भारत के परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने 3 अगस्त 2022 को राज्यसभा में बताया था कि सरकार अगले तीन वर्षों में 26 नए ग्रीन एक्सप्रेसवे Green Expressway) बनाने जा रही है। भारत का रोड इंफ्रास्ट्रक्चर Roadways Infrastructure) 2024 तक अमेरिका America) जैसा हो जाएगा। तब संकरी रास्तों की बात पुरानी हो जाएगी। हम इस साल आजादी का अमृत महोत्सव Azadi Ka Amrit Mahotsav) मना रहे हैं। भारत सड़क के क्षेत्र में कितना विकास कर पाया? पगडंडियों से निकलकर एक्सप्रेसवे तक का सफर कैसे तय किया? अभी और कितना काम करने की जरूरत है? उसके बारे में हम आपको विस्तार से बताएंगे।

मुख्तार अंसारी की पत्नी आफशां अंसारी पर पुलिस का शिकंजा सख्त….

भारत में तेजी से हो रहा है सड़कों का निर्माण केंद्रीय परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नीतिन गडकरी ने एक बयान में कहा था कि सरकार साल 2025 तक नेशनल हाइवे National Highway) के नेटवर्क को दो लाख किलोमीटर तक पहुंचाने की दिशा में लगातार काम कर रही है। इंडियन रोड कांग्रेस IRC) के एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने यह बात कही थी। गडकरी ने बुनियादी ढांचे के विकास में गुणवत्ता पर ध्यान केंद्रित करने के लिए नए विचारों, शोध निष्कर्षों और प्रौद्योगिकियों के लिए ‘इनोवेशन बैंक’ की स्थापना का भी प्रस्ताव रखा।

अतीक अहमद पर प्रशासन की ताबड़तोड़ कार्रवाई जारी, 24 करोड़ की 6 बीघा जमीन की गई कुर्क….

एक इकॉनमिक सर्वे में सामने आया कि 2013-14 के बाद राष्ट्रीय राजमार्गों/सड़कों के निर्माण में लगातार वृद्धि हुई है। 2019-20 में 10,237 किलोमीटर की तुलना में 2020-21 में 13,327 किलोमीटर का निर्माण किया गया है। यह पिछले वर्ष की तुलना में 30.2 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है। संसद में पेश किए गए आर्थिक सर्वेक्षण में कहा गया है, “बुनियादी ढांचा किसी भी अर्थव्यवस्था की रीढ़ होता है।” इसमें बताया गया कि 2021-22 सितंबर तक) में, 3,824 किलोमीटर सड़क नेटवर्क का निर्माण किया गया था।

श्रीकांत त्यागी के सपोर्ट में लगा बैनर, ‘ये त्यागियों का गांव, BJP नेता न आएं अंदर….

Leave A Reply

Your email address will not be published.