Spread the love

राम मंदिर निर्माण के लिए सोने-चांदी के दान से भरा भंडार, अब ट्रस्ट ने की दानदाताओं से ये अपील…

 

राधा सिंह | 28-07-2020

 

राम मंदिर निर्माण

Photo Google

विश्व का प्रभु श्री राम का भव्य, दिव्य और अदभुत मंदिर बनने की प्रकिया शुरू हो चुकी है। पांच तारीख को पीएम मोदी के आधारशिला रखते ही मंदिर निर्माण भी शुरू हो जाएगा और दावे के मुताबिक ये विशाल मंदिर साढ़े तीन साल में बनकर तैयार हो जाएगा।  जहां प्रभु राम के भक्तों का सदियों का इंतज़ार खत्म होगा और वे अपने आराध्य को साक्षात उनकी जनमभूमि में विराजमान देखेंगे। वैसे मंदिर निर्माण को लेकर भारत के लोगों में अभी से खासा उत्साह देखने को मिल रहा है. कोई तीर्थ स्थलों की मिट्टी लेकर ही पैदल अयोध्या के लिए निकल पड़ा है तो कोई भगवान के गर्भगृह को स्वर्ण जड़ित बनाने का एलान कर रहा है।

 

अब दुश्मन देशों की खैर नहीं, फ्रांस से भारत के लिए राफेल ने भरी उड़ान, देखिए वीडियो…

 

हिंदुओं के आराध्य श्री राम के मंदिर निर्माण का उत्साह मुस्लिम समाज में भी देखा जा रहा है। राम मंदिर आंदोलन से जुड़े रहे मुस्लिम लोग भी उस क्षण का बेसब्री से इंतज़ार कर रहे हैं। जब प्रभु राम के मंदिर का शिलान्यास देश के पीएम के हाथों होगा। इस मंदिर में हर कोई अपने अपने क्षमता के अनुसार दान भी कर रहा है। सबकी मंशा है कि उसका भी हिस्सा इस भव्य और दिव्य मंदिर में लग जाए. हर कोई चाह रहा है कि उसकी ईंट मंदिर निर्माण में लग जाए और इसलिए राम भक्त अयोध्या में सोने और चांदी की ईंटे भेज रहे हैं।

मोदी सरकार की चीन पर दूसरी डिजिटल स्ट्राइक, बैन किए 47 और ऐप..

 

इन ईंटों के आने का सिलसिला लगातार जारी है और ये ईंटे इतनी मांत्रा में पहुंच रही है कि ट्रस्ट को इन्हें सुरक्षित रखने के लिए जगह नहीं मिल रही है।  राम भक्तों के इस उत्साह को देखते हुए अब ट्रस्ट को अपील करनी पड़ी है कि राम भक्त सोने-चांदी या दूसरे धातुओं की ईंटे न भेजे बल्कि इसकी जगह कैश या अकाउंट में धन जमा कर दें, जो मंदिर निर्माण में काम में लगाया जाएगा।

 

गर्मियों में ठंडे पानी से जरा बचके!

 

वैसे करोड़ों रुपए पहले ही श्री राम मंदिर के लिए दान मिल चुका है और अभी भी लोग इस मंदिर के लिए दिल खोलकर दान कर रहे हैं।  लेकिन दान में भेजी जा रही मूल्यवान धातू की ईंटों की वजह से ट्रस्ट को परेशानी हो रही है। इसलिए राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने अब चांदी सोने की ईंटों का दान स्वीकार न करने का एलान किया है. ट्रस्ट के महासचिव चंपतराय ने सभी दानदाताओं से अपील की है कि वे सोने, चांदी और दूसरी धातुओं की ईंटें दान के लिए लेकर न आएं। 

 

सुशांत सिंह राजपूत की आखरी फ़िल्म “दिल बेचारा” का क्रेज इतना जबरदस्त की क्रैश हो गया “हॉटस्टार”

 

 

इसकी जगह कैश ट्रस्ट के खाते में जमा करें. दरअसल इसकी कई वजहें हैं। पहली तो ये कि चांदी और सोने की जो सामग्री दान में आ रही है उसका मूल्यांकन करना ट्रस्ट के लिए मुश्किल है।  दूसरा ये कि इनको रखने के लिए बैंक में इतनी बड़ी मात्रा में लॉकर नहीं हैं।  चंपत राय के मुताबिक अभी तक लगभग 1 क्विंटल से ज्यादा चांदी और दूसरी धातुओं की ईंटें राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को दान में मिल चुकी है।

 

85 साल की ‘लठैत दादी’ ने मचाया तहलका, लाठी भांजते ये वीडियो देखकर दंग रह जाएंगे… 

 

आपको बता दें, कि 5 अगस्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या आएंग और श्री राम मंदिर का भूमि पूजन करने के साथ इसके निर्माण का शुभारंभ करेंगे। पीएम दिन में साढ़े 11 बजे यहां पहुंचेंगे और लोगों को संबोधित भी करेंगे। प्रधानमंत्री हनुमानगढ़ी भी जाएंगे।  जानकारी के मुताबिक कार्यक्रम में सिर्फ 200 अथिति  ही शामिल होंगे। इसमें विशिष्ट अतिथियों के साथ ही साधु-संत और अधिकारियों शामिल रहेंगे।

 

आखिर कैसे हुई भगवान जगन्नाथ की सुप्रीम जीत

 

प्रस्‍तावित कार्यक्रम के मुताबिक पीएम का कार्यक्रम दो घंटे का होगा। भूमि पूजन का समय 12 बजकर 15 मिनट पर 32 सेकेंड का रहेगा। इसी दौरान पीएम राम मंदिर की आधारशिला भी रखेंगे।  तो अगर आप भी अयोध्या के मंदिर निर्माण में सहयोग करना चाहते हैं तो सोने चांदी के वस्तुओं के बजाय संस्था को रुपयों का दान करें ताकि ट्रस्ट को हो रही परेशानी कम हो सके।

 

 


Spread the love

Related Article

No Related Article

DOWNLOAD APP

THE ATI NEWS APP

THE ATI NEWS APP

THE ATI MAGAZINE S4

boAt Rockerz 400 Super Extra Bass Bluetooth Headset

boAt Rockerz 400 Super Extra Bass Bluetooth Headset (Blue, Black, Wireless over the head)

Neo Health Lab jaunpur

FOLLOW US

INSTAGRAM

YOUTUBE

Advertisement

The ATI News

Archivies

Social